सनातन को तो जीना है, सृष्टि के साथ, सृष्टि के अंत तक, निरंतर

सामान्य सर्दी ज़ुकाम और दो दिन का बुखार शरीर तोड़ देता है। हफ्ते भर के मलेरिया और टायफायड से तो शरीर में कमज़ोरी आ जाती है। और अगर कहीं बुखार बिगड़ गया तो लेने के देने पड़ जाते हैं। ठीक से इलाज ना हो तो यह घातक भी हो सकता है। कमज़ोर शरीर में फिर … Continue reading सनातन को तो जीना है, सृष्टि के साथ, सृष्टि के अंत तक, निरंतर