दहशतगर्दी में शामिल कितने लोगों को किया इस्लाम बदर?

पेशावर के Army Public School पर जब आतंकी हमला हुआ था और 200 से ज़्यादा बच्चे जिबह किये गए थे…

शब्द पर ध्यान दीजिए।

मारे या क़त्ल नहीं किये गए थे… जिबह किये गए थे।

मारने और जिबह करने में फर्क होता है।

एक खास इस्लामिक तरीके से Jugular Vein काट के गर्दन काटी जाती है। छुरी गर्दन में धंसाने से पहले कलमा पढ़ा जाता है… ये इस्लामिक तरीका है गर्दन काटने का…

सो उस पेशावर हमले की चौतरफा निंदा हुई थी… और वैश्विक इस्लामिक जमात में भी ये कहा गया था कि This is Un-Islamic…

कुल 4 घंटे ये हमला चला और फिर उसके बाद पाकिस्तानी फौज ने उन आतंकियों को घेर के मार दिया था।

कोई मुझे बता सकता है कि उन आतंकियों का कफन दफन कैसे कहां हुआ था?

उनकी नमाज़े जनाजा हुई थी या नहीं?

किसी कब्रिस्तान में उनको जगह मिली थी या नहीं?

चूंकि उन्होंने Un-Islamic कृत्य किया था तो उन्हें इस्लाम बदर किया गया था या नहीं?

वो जन्नत में गए या दोज़ख में?

उनको 72 हूरें और 24 गिलमां नसीब हुए या नहीं?

कोई मुझे बता सकता है कि दहशतगर्दी में आज तक जितने मुसलमान शामिल हुए, उनमें से किसी एक को किसी मौलवी, मौलाना, मदरसे, मस्जिद या किसी दारुल उलूम ने इस्लाम बदर किया हो?

किसी चोर, गिरहकट, डाकू… किसी बदमाश, लफंगे को?

मुहम्मद अफ़रोज़… वही जिसने निर्भया का रेप किया… उसको किसी ने इस्लाम बदर किया हो?

या फिर वो राजसमंद वाले जिन्होंने 6 साल की बच्ची से बलात्कार किया, उनको किसी मुल्ला मौलवी ने इस्लाम बदर किया हो?

निदा खान को तीन तलाक़ और हलाला का विरोध करने पर मोमिनों ने इस्लाम बदर कर दिया है।

बेटा पहले अपनी बीबी को गुस्से में तीन तलाक दे देगा और फिर हलाला के लिए अब्बू के सामने परोस देगा?

और वो बाप कैसा है यार जो अपनी बहू का हलाला कर दे?

और फिर वो बेटा ता उम्र अपने बाप से नज़रें कैसे मिलाता होगा?

और फिर वो बाप अपनी बहू को किस नज़र से देखता होगा उम्र भर…

और इस जहालत का विरोध करने पर इस्लाम से निकाल दोगे?

मुस्लिम औरतों को चाहिए कि इससे पहले कि वो तुमको इस्लाम से निकालें, तुम ‘ऐसे’ इस्लाम को निकाल दो अपने जीवन से।

डिस्कवरी चैनल देखा करो, अच्छा चैनल है!

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यवहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति मेकिंग इंडिया उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार मेकिंग इंडिया के नहीं हैं, तथा मेकिंग इंडिया उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY