‘परिवार’ को भारत के सत्ताशीर्ष पर बनाए रखने के, हम भी तो हैं कुछ ज़िम्मेदार

स्वतंत्रता के बाद एक परिवार ने लॉलीपॉप, स्लोगन, इमरजेंसी, तुष्टिकरण, गुंडागर्दी, चमचों के द्वारा अपने आप को सत्ता के शीर्ष पर बनाये रखा। पिता, बिटिया, नाती, बहू (सरदार जी सिर्फ कठपुतली थे) ने सत्ता पर कब्ज़ा बनाये रखा, अपने और अपने खानदान को खरबों रुपये लूटकर समृद्ध किया। अब अपने परिवार के एक अन्य ‘चिराग’ … Continue reading ‘परिवार’ को भारत के सत्ताशीर्ष पर बनाए रखने के, हम भी तो हैं कुछ ज़िम्मेदार