क्या हम सचमुच अपने देश से प्यार करते हैं?

1989 में पहली बार विदेश जाने का मौका मिला – इंजीनियरिंग करने के लिए – यूरोप के बीचोंबीच स्थित – पोलैन्ड। रुस के अप्रत्यक्ष नियन्त्रण में फंसा पोलैन्ड पहला देश था जो उन्हीं दिनों में कम्युनिस्ट शासन से तंग आकर एक लोकतन्त्र में बदल रहा था। और 1989 में यूरोप के सबसे गरीब देशों में … Continue reading क्या हम सचमुच अपने देश से प्यार करते हैं?