सूर्य ग्रहण : 13 तारीख और शुक्रवार का संयोग भी हो सकता है शुभ

कहते हैं 13 तारीख और शुक्रवार अशुभ दिन होता है, लेकिन सूर्य देवता ने ग्रहण के लिए भी यही दिन चुना है, आइये देखते हैं इसका शुभ अशुभ प्रभाव –

13 जुलाई को वर्ष का सूर्य ग्रहण लग रहा है। यह ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा इसलिए ग्रहण के नियम के अनुसार भारत में रहने वाले लोगों पर ग्रहण के सूतक का विचार नहीं होगा। भारत के लोगों को ग्रहण के दौरान किए जाने वाले नियमों के पालन की जरूरत नहीं।

यूं तो सूर्य ग्रहण का प्रभाव भारतीयों के अलावा भी सब पर पड़ता है लेकिन चूंकि भारतीय ही इनको मानते हैं इसलिए वे भारतीय जो उन देशों में रहते हैं जहां ग्रहण दिखेगा, उन पर इस ग्रहण का प्रभाव होगा और उन्हें सूतक का भी ध्यान रखना चाहिए। जिन क्षेत्रों में ग्रहण दिखेगा वहां केवल ग्रहण के सूतक का नियम पालन जरूरी माना गया है।

13 जुलाई आंशिक सूर्य ग्रहण लगेगा। यह ग्रहण ज्यादातर दक्षिण ऑस्ट्रेलिया, पेसिफिक और हिन्द महासगार में दर्शनीय होगा। सूर्य के विशेष रूप से प्रभावित होने के कारण इसका असर राशियों पर होगा जो लगभग 15 दिनों तक बना रहेगा।

हम आज आपको बताएंगे ग्रहण के बुरे प्रभाव से बचने के उपाय… लेकिन पहले आपको बताते हैं कि इस ग्रहण की विशेषताएं क्या हैं।

भारतीय समय के अनुसार, यह प्रातः 07।18 से शुरू होकर प्रातः 09।43 तक समाप्त होगा। इस ग्रहण की कुल अवधि लगभग 02 घंटे 25 मिनट की है।

ये योग पूरे 44 साल बाद आया है। अब शुक्रवार और 13 तारीख के मेल वाला यह सूर्यग्रहण 13 सितंबर 2080 में लगेगा।

आइए जानते हैं सूर्य ग्रहण का किन राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

मेष: सूर्य ग्रहण आपको आर्थिक लाभ दिला सकता है। आपकी सुख-सुविधाओं में भी वृद्धि होने की संभावना है। समाज में आपके सम्मान में वृद्धि होगी। नौकरी-बिजनेस में भी सफलता मिलेगी।

वृषभ: इस दौरान कुछ परेशानियां झेलनी पड़ सकती है। आपके खर्चों में बढ़ोतरी होगी। स्वास्थ्य संबंधी कुछ समस्याएं भी हो सकती हैं। सुख-शांति में खलल पड़ सकता है।

मिथुन: स्वास्थ्य के मामले में सतर्क रहें। मानसिक तनाव हो सकता है। वाहन चलाने में सावधानी रखें। किसी पर ज्यादा भरोसा करना मुश्किल में डाल सकता है। कार्यक्षेत्र में लाभ होने की संभावना बन रही है।

कर्क: आर्थिक स्थिति शानदार रहेगी। मेहनत कम लेकिन लाभ ज्यादा होगा। लेकिन सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है। किसी के साथ विवाद हो सकता है इसलिए संभलकर रहें।

सिंह: इच्छाशक्ति और साहस में वृद्धि होगी। छोटी दूरी की यात्रा के भी योग हैं। नौकरी व बिजनेस के क्षेत्र में प्रगति होगी।

कन्या: जीवन में खुशियों और असंतुष्टि का भाव रह सकता है। पारिवारिक समस्याएं बढ़ने से परेशानी होगी। कानूनी मामलों में आपके पक्ष में फैसला आ सकता है।

जिन जगहों पर दिखेगा ग्रहण, वहां रहनेवाले भारतीय इन नियमों का पालन कर सकते हैं…

-ग्रहण काल के दौरान मानसिक जप करना चाहिए, ध्यान लगाना चाहिए या मौन साधना कर सकते हैं। इस दौरान पूजा नहीं करनी चाहिए और भगवान की मूर्ति या तस्वीर के स्पर्श की मनाही है।

-गर्भवती स्त्रियों को ग्रहण के दौरान बाहर नहीं निकलना चाहिए। वह कमरे में रहें और मानसिक जप या ध्यान करें।

-ग्रहण के दौरान खाने की सभी चीजों में तुलसी के पत्ते डाल दें।

-खाली आंखों से ग्रहण को नहीं देखना चाहिए। इसके लिए उपयुक्त लैंस या गॉगल का इस्तेमाल करें। आप घर में रखी एक्स-रे फिल्म को आंखों के आगे रखकर भी ग्रहण देख सकते हैं। साथ ही आप सोलर फिल्टर या सलर व्यूअर का भी प्रयोग कर सकते हैं।

-ध्यान रखें, जिस भी माध्यम से आप ग्रहण को देख रहे हों चाहे वह एक्स-रे फिल्म हो या ग्लास, उसमें स्क्रैच नहीं होने चाहिए।

-सूर्य ग्रहण की फोटो क्लिक करना चाहते हैं तो किसी एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। अन्यथा आंखों को नुकसान हो सकता है।

-ग्रहण काल के बाद किसी पवित्र नदी या ताजे जल से स्नान करना चाहिए।

-स्नान के बाद दान-पुण्य करने का विधान हमारी संस्कृति में है।

हरेन्द्र की माँ काली

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY