अमृत : ये वेगड़ लोग कहीं नहीं जाते

लोग कहते हैं अमृतलाल वेगड़ चले गए। लोग पता नहीं क्या क्या बोलते हैं। कोई वेगड़ कभी जाता है? जब तक नर्मदा हैं, नर्मदा के भावुक प्रेमी हैं, तब तक वेगड़ जी कहाँ जाएंगे? उन्हीं के बीच धूनी रमाएँगे। किसी महानगर के किसी घर के ड्राइंग रूम में, किसी गांव की किसी कुटिया में, किसी … Continue reading अमृत : ये वेगड़ लोग कहीं नहीं जाते