लुटेरों की वापसी का कारण न बन जाये, आपका ये रवैया!

आप ने क्या सोचा था नरेंद्र मोदी और भाजपा की सरकार आएगी तो क्या होगा?

देश के 23 करोड़ मुसलमानो को समुद्र में फेंक दिया जायेगा!

स्कूलों में भागवत गीता और रामायण पढाई जाएगी!

पकिस्तान को परमाणु बम फेंककर ध्वस्त कर दिया जायेगा!

देश में किसी मुस्लिम का पासपोर्ट नहीं बनने दिया जायेगा!

पूरे देश के स्कूल कॉलेजों में ड्रेस भगवा हो जाएगी!

और सुप्रीम कोर्ट को धता बताकर रातों रात मंदिर निर्माण शुरू कर दिया जायेगा!

अगर आप की ऐसी अपेक्षाएं थीं तो आप गलत हैं।

भारत एक अपने संविधान से बंधा हुआ, धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक देश है। यकीनन आज नरेंद्र मोदी की सरकार बनवाने में आप का और हमारा सहयोग रहा होगा किन्तु…

आजादी के बाद पहली बार भारत का प्रधानमंत्री छाती ठोककर कहता है कि मैं हिन्दू हूँ। अपने धर्म की परंपरा, भक्ति, माइथोलॉजी और आस्थाओं का पालन करता हूँ और सब धर्मो का सम्मान करता हूँ।

प्रधानमंत्री दुनिया के किसी भी देश में जाते हैं तो हिन्दू मंदिरों में जाकर हिंदुइज़्म को गौरवान्वित करते हैं।

हमारे प्रधानमंत्री जिन्हे हमने बनाया, निहायत ही ईमानदार हैं। जहाँ कुछ साल राजनीति में रहे लोगों की कई पीढ़ियां और रिश्तेदार धन माल से लबरेज हो जाती हैं, वहीं मोदी का परिवार पूर्ववत सामान्य जिंदगी जीता है।

नज़रें उठाकर देखिये मुलायम सिंह, मायावती, शरद पवार, लालू यादव, प्रियंका वाड्रा, छगन भुजबल, ठाकरे परिवार और करूणानिधि को देखिये।

उत्तरप्रदेश की मुख्यमंत्रियों के लिए जहाँ ये प्रसिद्ध था कि कम समय में असीमित धन कमाने की क्षमता रखते हैं चाहे वो खनन हो, उद्योगों के लाइसेंस परमिट हों, वैध – अवैध कत्लखाने हों, जमीन आवंटन हो या बिल्डरों से वसूली।

वहीं भाजपा के ईमानदार मुख्यमंत्री की बहन-बहनोई पहाड़ में एक छोटी सी दूकान चलाते हैं और शेष परिवार अत्यंत सामान्य जीवन जीता है।

क्या ये सब 2014 में दिए अपने वोट को जस्टिफाई करने के लिए और 2019 में भाजपा को वोट देने के लिए कम है कि प्रधानमंत्री 17 घंटे बिना रुके, बिना छुट्टी लिए काम किये जा रहे हैं।

आज दुनिया में उन्होंने भारत का सम्मान बढ़ाया है। विकास को गति दी है। आतंकवाद पर नकेल कसी है और गरीब के सम्बन्ध में अनेक योजनाओं पर काम किया है।

सावधान, कहीं आप का ये अपनी ही सरकार को बार बार पिन चुभाना लुटेरों की वापसी का कारण न बन जाये।

Comments

comments

loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY