दशकों पुराने कैंसर का सफल और स्थायी इलाज करेगी यह सर्जरी

कल कश्मीर में गठबन्धन सरकार का जीवनकाल खत्म करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के फैसले के बाद धूर्त अब नए तर्क गढ़ रहे हैं.

वो धूर्त अब कह रहे हैं कि “सोशल मीडिया में हम जैसों के गरियाने-कोसने के कारण ही यह फैसला हुआ है इसलिए इस सरकार को हमारी ही तरह गरिया कर, कोस कर दबाव बनाते रहिये.”

मित्रों, ध्यान रहे कि हिन्दूवाद-राष्ट्रवाद की नकाब वाली चन्दाखोर, पैसा-मांगू नस्ल वाले ये वही धूर्त हैं जिनकी भिखमंगई को सरकारी/दरबारी भिक्षा का संरक्षण नहीं मिला.

अतः तरह तरह के बहानों के साथ यह किसी ने किसी विषय पर मोदी सरकार को गरियाने का सोशल-मीडियाई गोरखधंधा चालू किये हुए हैं.

ध्यान रहे कि आलोचना करने और गरियाने में धरती आकाश का अन्तर होता है.

पिछले 3 वर्षों से अधिक समय के दौरान कश्मीर से सम्बंधित मेरे सभी लेख गवाह हैं कि जिस दिन BJP+PDP गठबन्धन सरकार बनी थी उस दिन से आखिरी दिन तक मैं इस गठबन्धन सरकार का समर्थक था.

इसलिए मैं जानता हूं कि कल जो घटनाक्रम घटा वो किसी चंदाखोर, पैसा-मांगू गिरोह के कोसने गरियाने के कारण नहीं घटा. सबकुछ पहले से तय था.

17 अप्रैल 2017 को मैंने इस सन्दर्भ में लिखा था कि… ‘प्रतीक्षा करिये 60 साल पुराने कैंसर की सर्जरी में 60 महीने का समय लगेगा ही’.

कश्मीर ही क्यों, देश के किसी भी भूभाग में सेना और सुरक्षा बलों के जवानों के मनोबल, उनके स्वाभिमान पर कहीं कोई आघात तो नहीं हो रहा?

यह चिंता हर देशवासी को होती है, मुझे भी है.

किन्तु मुझे यह गलतफहमी कतई नहीं है कि इस देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल को ऐसी कोई चिंता नहीं है.

इसके बजाय मेरा मानना है कि किसी भी देशवासी से हज़ारों गुना अधिक चिंता उनको है.

कश्मीर में इन दिनों जो कुछ घटित हो रहा है वो निकट भविष्य में कश्मीर में घटने जा रहे एक ऐतिहासिक घटनाक्रम का तानाबाना बुन रहा है.

फ़िलहाल जिन लोगों को इस तानेबाने को बुनते हुए हम, आप और पूरा देश देख रहा है उनका सामना जब सच से होगा तब तक बहुत देर हो चुकी होगी और अपने बुने तानेबाने के जटिल जाल में वो पूरी तरह फंस चुके होंगे.

प्रतीक्षा करिये… 60 साल पुराने कैंसर की सर्जरी में 60 महीने का समय लगेगा ही और थोड़ी नहीं बल्कि बहुत पीड़ा भी सहनी होगी. मुझे विश्वास है कि इस कैंसर का सफल और स्थायी इलाज यह सर्जरी करेगी ही करेगी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY