यदि किसान इन चोट्टों के साथ होता तो आसमान पर होते दूध फल सब्ज़ियों के भाव

कांग्रेस का किसानों के नाम पर किया जा रहा आंदोलन बेहद सफल हो रहा है, मोदी सरकार पूर्ण रूप से फेल हुई है.

सभी किसान व आम जनता का जबरदस्त समर्थन मिल रहा बन्द को, किसान एक भी सब्ज़ी फल या दूध बाजार में नहीं ला रहे.

अरे किसानों की छोड़िये आम जनता भी इतना समर्थन कर रहा कि खुद ही सब्ज़ी फल लेना बन्द कर दिया, लोग तो दूध भी नहीं ले रहे.

हालात ये है कि दूध 500 रूपए प्रति थैली (500ml), टमाटर 400 रूपए प्रति किलो बिक रहा है, आलू 100 रूपए किलो, प्याज़ 150 रूपए किलो…

हरी सब्जियों की तो पूछिये ही मत, कोई भी 500 रुपये किलो से कम नहीं है, देखा… इसे कहते हैं जनसमर्थन…

क्या कहा आपके यहाँ ये भाव नहीं है? तो फिर आप गद्दार हैं, देशद्रोही हैं, अंग्रेज़ों के एजेंट हैं, संघी हैं, भाजपाई हैं, आपको किसानों की चिंता नही है, आप मनुवादी हैं…

देखिये हमारे यहां तो तथाकथित युवराज भी इसी भाव पर सब्ज़ियां फल दूध ले रहे हैं, देखा कितना खयाल हैं उन्हें देश की जनता का.

उन्होंने आदेश दिया है सभी कांग्रेसी इसी भाव से किसानों/ सब्ज़ीवालों को पेमेंट करेंगे, अरे भैया हम कांग्रेसी हैं हमें किसानों की चिंता है.

इसीलिए बाकायदा फोटोशूट करवाये हमने नकली दूध फैलाने के, न… ना… असली थोड़े ही था, और अगर था भी तो 1000 रूपए लीटर के हिसाब से पहले पेमेंट किया तब फैलाया, हमें गरीबों की चिंता जो है.

पढ़ कर हंस लिए हों तो जान लीजिए अगर 10% किसान भी इन चोर चोट्टों के साथ होता तो आज दूध फल सब्ज़ियों के भाव आसमान छू रहे होते, और आम आदमी सिर्फ भाव पूछ पाता खरीद नही पाता.

किसानों को भी पता है उन्हें पिछली सरकार के मुकाबले इस सरकार में अपनी फसल का 1.5 गुणा भाव मिल रहा है, सरकार ने समर्थन मूल्य जो 1.5 गुणा कर दिया है, धन्यवाद मोदी जी.

कांग्रेस की मानें तो किसान बेहाल है, फटेहाल है, पैसे की तंगी की वजह से आत्महत्या कर रहा है, लेकिन कुछ फ़र्ज़ी कांग्रेसी किसान स्मार्टफोन से फेसबुक पर आते ही होंगे इस फ़र्ज़ी बन्द को सफल बताते हुए.

कोई बताएगा ये स्मार्टफोन आसमान से बरसे या इटली से नानी के घर से आये हैं? ऐसे स्मार्टफोन धारक फ़र्ज़ी कांग्रेसी किसान असल मे कांग्रेस के पेड आईटी वर्कर्स हैं, बाकी आप समझदार हैं अगर बन्द को समर्थन मिला होता तो भाव क्या होते खुद से पूछिए.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY