पैट्रोल की बढ़ती कीमतों का सामान्य जनता पर असर

10 से 15 हजार प्रति माह कमाने वाले परिवार औसतन महीने भर में 300 किलोमीटर मोटरसाइकिल चलाते हैं – लगभग 5 लीटर पेट्रोल – पहले के मुकाबले 10 रूपए प्रति लीटर कीमत बढ़ने से महंगाई का असर = 50 रूपए महीना.

15 से 30 हजार प्रति माह कमाने वाले परिवार औसतन महीने भर में 1200 किलोमीटर मोटरसाइकिल चलाते हैं – लगभग 20 लीटर पेट्रोल – पहले के मुकाबले 10 रूपए प्रति लीटर कीमत बढ़ने से महंगाई का असर = 200 रूपए महीना.

30 से 60 हजार प्रति माह कमाने वाले परिवार औसतन महीने भर में 1200 किलोमीटर मोटरसाइकिल और 600 किलोमीटर कार चलाते हैं – लगभग 60 लीटर पेट्रोल – पहले के मुकाबले 10 रूपए प्रति लीटर कीमत बढ़ने से महंगाई का असर = 600 रूपए महीना.

60 हजार प्रतिमाह या अधिक कमाने वाले परिवार औसतन महीने भर में 3000 किलोमीटर मोटरसाइकिल चलाते हैं, लगभग 3000 किलोमीटर ही कार भी चलाते हैं – लगभग 250 लीटर पेट्रोल – पहले के मुकाबले 10 रूपए प्रति लीटर कीमत बढ़ने से महंगाई का असर = 2500 रूपए महीना.

क्या सचमुच ये पैट्रोल इतना मंहगा हो गया है कि हम लोग सांस भी नहीं ले पा रहे? या सिर्फ इसलिये विरोध करना ही है क्योंकि ये भाजपा की सरकार है.

साथ में याद यह भी रखिये कि पिछले 4 सालों में दालें, आलू, टमाटर, मटर, प्याज और चीनी जैसी रोज़ इस्तेमाल में आने वाली चीजें सस्ती हो रही हैं. और इनका प्रतिमाह का इस्तेमाल किसी भी घर में पैट्रोल पर होने वाले खर्च का कई गुना होता है.

और यह भी याद रखिये कि 2014 से पहले सरकार पैट्रोल डीज़ल पर काफी सब्सिडी देती थी, और इसकी भरपाई बिजली न देकर, सड़कें खराब रख कर आदि से करती थी. जबकि अब लगातार बहुत तेज स्तर पर सड़क व रेल लाइन बिछाई जा रही हैं, बिजली पहले से बहुत ज्यादा मिल पा रही है.

याद यह भी रखिये कि पहले की सरकार ने 75 हज़ार करोड़ का उधार का पैट्रोलियम ले रखा था, और उसको बेचकर मिला पैसा भ्रष्टाचार में समाप्त कर दिया, जबकि मोदी सरकार ने वो पिछला उधार भी चुकाया है.

याद यह भी रखिये कि आपसे पैट्रोल की पूरी कीमत बमय ज्यादा टैक्स लेकर भी मोदी या भाजपा सरकार उस पैसे को अपने प्राइवेट एकाउन्ट में जमा नहीं कर रही है, बल्कि देश के विकास के कामों में लगा रही है.

बाकी, सोच अपनी अपनी, समझ अपनी अपनी.

मुझे तो मोदीजी जैसा ईमानदार और राष्ट्रभक्त नेता कोई दूसरा दिख नहीं रहा, आपको मिले तो मुझे भी बताइयेगा. तब तक मैं तो मोदीजी को ही वोट दूंगा.

और हां…

जय हिंद.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY