मन की बात में बोले पीएम: व्‍यक्तित्‍व विकास के लिए ज़रूरी हैं पारंपरिक खेल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समग्र व्‍यक्तित्‍व विकास में आम भूमिका निभाने वाले पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने का आह्वान किया है. आकाशवाणी से मन की बात के जरिये देशवासियों से संवाद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह चिंता की बात है कि गुल्‍ली डंडा, खो-खो और पिट्ठू जैसे पारंपरिक खेल धीरे-धीरे समाप्‍त हो रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो इन खेलों के साथ-साथ हमारा बचपन भी कहीं खो जाएगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि इन खेलों में हमारे देश की विविधता में एकता की भावना देखी जा सकती है.

फिट इंडिया यानी स्‍वस्‍थ भारत अभियान का उल्‍लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस अभियान में अब फिल्‍म जगत से लेकर खेल जगत के लोग और देश के आम नागरिक तक जुड़ते जा रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि भारतीय क्रिकेट कप्‍तान विराट कोहली का ‘हम फिट तो इंडिया फिट’ की चुनौती को स्‍वीकार करना उनके लिए खुशी की बात है.

एवरेस्‍ट पर्वत पर चढ़ाई की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मिशन शौर्य के तहत महाराष्‍ट्र के चन्‍द्रपुर के एक आश्रम स्‍कूल के पांच आदिवासी बच्‍चों ने विश्‍व की इस सबसे ऊंचे पर्वत पर विजय प्राप्‍त करने का करिश्‍मा करके दिखाया है.

उन्‍होंने कहा कि कुछ समय पहले 16 वर्षीय शिवांगी पाठक नेपाल की ओर से एवरेस्‍ट शिखर की चढ़ाई करके भारत की सबसे कम उम्र की महिला बन गई हैं. श्री मोदी ने कहा कि अजीत बजाज और उनकी बेटी दीया पिता-पुत्री की ऐसी पहली जोड़ी है, जिसने एवरेस्‍ट पर चढ़ाई करने में सफलता प्राप्‍त की.

आईएनएस तारिणी पर 250 दिन से अधिक तक विश्‍व की समुद्री परिक्रमा सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए भारतीय नौसेना की छह महिला कमांडरों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की इन छह बेटियों ने विश्‍व में देश और नौसेना का गौरव बढ़ाया है और लाखों अन्‍य महिलाओं के लिए प्रेरणा का काम किया है.

श्री मोदी ने राजस्‍थान के सीकर की मलिन बस्तियों की उन गरीब बालिकाओं की सराहना की जो आत्‍मनिर्भर बनने के लिए सिलाई का काम सीख रही हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत आगामी पांच जून को विश्‍व पर्यावरण दिवस समारोह की मेज़बानी करेगा. इस वर्ष का वि‍षय है – बीट प्‍लास्टिक पॉल्युश यानी प्‍लास्टिक प्रदूषण पर नियंत्रण. श्री मोदी ने कहा कि यह आयोजन इस बात का प्रमाण है कि जलवायु परिवर्तन की दिशा में भारत के बढ़ते नेतृत्‍व को विश्‍वव्‍यापी स्‍वीकृति मिल रही है. प्रधानमंत्री ने लोगों से घटिया किस्‍म के पॉलिथीन बैग और प्‍लास्टिक का इस्‍तेमाल नहीं करने और प्‍लास्टिक प्रदूषण के प्रतिकूल प्रभाव को कम करने की कोशिश करने की अपील की.

श्री मोदी ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की तैयारियां पूरे विश्‍व में शुरू हो गई हैं.

प्रधानमंत्री ने देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की पुण्‍य तिथि पर आज उनका स्‍मरण किया. उन्‍होंने कहा कि 1857 में इसी मई के महीने में भारतवासियों ने ब्रिटिश शासकों को अपनी ताकत दिखाई थी. उन्‍होंने कहा कि ये वीर सावरकर ही थे, जिन्‍होंने निर्भीकता पूर्वक लिखा कि 1857 में जो कुछ भी हुआ वह कोई विद्रोह नहीं था बल्कि आजादी की पहली लड़ाई थी.उन्‍होंने कहा कि वीर सावरकर की बहादुरी और ब्रिटिश राज के खिलाफ उनके संघर्ष के बारे में सभी को मालूम है.

श्री मोदी ने आशा जताई कि आगामी ईद-उल-फितर का पर्व समाज में सद्भाव के बंधन को और मजबूती प्रदान करेगा.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY