आयुर्वेद आशीर्वाद : थाइरॉइड के लिए रामबाण नुस्खा

जब थाइरॉइड ग्लैंड कम मात्रा में हार्मोन निकालता है तो औरतों में इससे सभी हॉर्मोन मैल्फंगक्शनिंग करने लगते हैं और मेटाबॉलिज्म के बिगड़ जाने से वज़न तेजी से बढ़ता है.

एक आयुर्वेदिक नुस्खा है त्रिकूट का. इसमें सौंठ, काली मिर्च और पीपर (शुद्ध नाम पिप्पली) को समान मात्रा में लेकर पीस कर चूर्ण बना लें फिर सुबह शाम सिर्फ आधा चम्मच शहद या पानी के साथ लें.

शारंगधर संहिता में लिखा है

पिप्पली मारीच शुंठी त्रिभि त्रययूषण मुच्यते
दीपनं श्लेषम मेदोघ्न कुष्ठ पीन नाशनम
जये दरोचकं सामं मेहगुल्म गलामयान ।

त्रिकूट से दीपनं (डाइजेशन इम्प्रूव करता है),

श्लेषम (कफ दोष को सही करता है),

मेदोघ्न (फैट घटाता है),

कुष्ठ (स्किन डिजीज को ठीक करता है),

पीन (बहती नाक और राइनसाइटिस को ठीक करता है),

जये दरोचकं (anorexia relieve),

सामं (आंव को ठीक करता है),

मेह (डायबटीज़ के लिए),

गुल्म (ब्लोटिंग और पेट दर्द में),

गलमाया (थ्रोट इंफेक्शन और थाइरॉइड) को ठीक करता है.

ये मैंने अपनी बुक से लिखा है, इसका प्रयोग 3 ग्राम से ज़्यादा नहीं करें. बाकी डॉ की दवा लेते रहिये उसे मत छोड़िये. ( Caution with pregnant women.) इसे साथ में करते रहे.

– डायटीशियन अनु त्रिपाठी

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY