एम्स में कराया किडनी ट्रांसप्लांट, दिल गदगद कर दिया जेटली ने

कुछ गहमा गहमी सी थी आज AIIMS दिल्ली की लाल बिल्डिंग की तरफ…

वहाँ मौजूद तमाम गाड़ियाँ किसी विशेष व्यक्ति की मौजूदगी का अहसास तो दे रहीं थीं, लेकिन मरीज और उसके अटेंडेंट्स को कोई भी परेशानी नहीं थी.

चलते समय वही गहमा गहमी देखी तो पता चला फाइनेंस मिनिस्टर का किडनी ट्रांसप्लांट हुआ है/ हो रहा है.

फाईनेंस मिनिस्टर ऑफ़ इंडियन गवर्नमेंट!

कितना हनकदार पद है, खरबों के वारे न्यारे ये मंत्री अपनी कलम से मिनटों में करता है…

लेकिन भारत का फाइनेंस मिनिस्टर अपनी किडनी ट्रांसप्लांट जैसी गम्भीर चिकित्सा के लिए कहीं विदेश ना जाकर, और भारत के ही किसी दूसरे निजी मंहगे हॉस्पिटल में ना जाकर, सामान्यजन की चिकित्सा वाले सरकारी चिकित्सा केंद्र AIIMS को चुनता है…

दिल गदगद हो गया आज!

और अरुण जेटली साहब के जेब-लुटली… टैक्स टैरेरिस्ट… नोटबंदी के पल पल में फैसले बदलने वाले धोखेबाज मंत्री… देश के हर नागरिक को बेईमान समझने वाले मंत्री वाले व्यक्तित्व पर…

पल भर में…

1974 के जेपी आन्दोलन में गोविन्दाचार्य के साथ के मास्टर माईंड और कमान सम्हालने वाले दिल्ली यूनिवर्सिटी के ABVP के नेता…

करोड़ों की वकालत प्रेक्टिस पानी पार्टी के लिए छोड़ने वाले भाजपा नेता…

और वित्त मंत्री पद के बावजूद निजी सम्पत्ति में घटोत्तरी दर्ज कराने वाले ईमानदार राजनेता…

….वाला विशालकाय व्यक्तित्व छा गया.

और यहीं जेटली साहब के हालचाल लेने आये भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की दुबली सी पड़ गयी काया देख कर लगा कि वेट लॉस के लिए गडकरी साब और जेटली साब द्वारा कराई गयी सर्जरी की बजाय… कर्नाटक चुनाव प्रचार जैसा थकाऊ प्रचार भी कुछ ज्यादा कारगर है.

Comments

comments

loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY