सावधान रहिये इन हिन्दू नामधारी मारीचों से

केवल कांग्रेस के नेता ही धर्म परिवर्तन क्यों करते हैं?

धर्म परिवर्तन कर के वो इस्लाम बौद्ध जैन या सिक्ख धर्म क्यों नहीं अपनाते?

इसके बजाय ये कांग्रेसी नेता केवल ईसाई धर्म ही क्यों अपनाते हैं?

अगर ईसाई धर्म अपनाते भी हैं तो उसे अपने पुराने हिन्दू नाम की नकाब से छुपाते क्यों हैं?

कांग्रेसी नेता खुलकर बताते क्यों नहीं कि हमने हिन्दू धर्म छोड़कर ईसाई धर्म अपना लिया है?

यह सभी सवाल बहुत महत्वपूर्ण गम्भीर और संवेदनशील हैं.

क्योंकि हिन्दू होने की नकाब पहनकर हिन्दुत्व पर किये जाने वाले हमलों का सामना करने के बजाय उन हमलों के प्रति हमारी आंखों में धोखाधड़ी की काली पट्टी बांधने का काम करते हैं ऐसे मारीच हिन्दू.

शोभा ओझा नाम की अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष रही कांग्रेसी नेता न्यूज़ चैनलों पर हिन्दू बनकर बैठती थी. सेक्युलरिज़्म को हथियार बनाकर हिन्दुत्व को कोसती रहती थी.

हिन्दू नकाब में छुपी उस ईसाइन की ऐसी करतूतों से ऊबकर भाजपा प्रवक्ता प्रेम शुक्ला ने न्यूज़ चैनल पर बहस के दौरान जब उसकी सच्चाई उजागर की थी तो वो बुरी तरह तिलमिलाने बिलबिलाने लग गयी थी.

ऐसा ही एक ताज़ा उदाहरण 11 मई को तब देखने को मिला.

जनकपुर में मां जानकी मन्दिर जाकर मां जानकी के चरणों मे शीश टिकाते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भक्ति को नौटँकी पाखण्ड ढोंग बताकर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं आस्थाओं पर हिन्दू नाम की आड़ में हिन्दू बनकर राक्षसी प्रहार कर रही, उसपर ज़हर उगल रही कांग्रेस की प्रवक्ता रागिनी नायक द्वारा धर्मपरिवर्तन कर ईसाई धर्म अपनाने की सच्चाई भाजपा प्रवक्ता सम्बित पात्रा ने न्यूज़ चैनल पर सार्वजनिक कर दी.

सम्बित पात्रा द्वारा उजागर की गई सच्चाई से बिलबिलाई ईसाइन रागिनी ने सच पर पर्दा डालने के लिए रामायण की चौपाई सुनानी शुरू कर दी लेकिन सम्बित पात्रा द्वारा उजागर की गई धर्म परिवर्तन कर ईसाई बन जाने की सच्चाई को नहीं नकार सकी.

अतः इन हिन्दू मारीचों से सावधान रहिये और आप भी देखिए यह वीडियो तथा अधिकतम लोगों को उपरोक्त सवाल और यह सच पहुंचाइये.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY