Make in India : विदेशी प्रोजेक्ट्स से खुलीं स्वरोज़गार की असीम संभावनाएं, क्या आप तैयार हैं?

मैंने कुछ दिन पहले DRDO के टेक्नोलॉजी ट्रान्सफर पर लिखा था. इस पर कई लोगों ने मुझसे जानकारी मांगी.

जितना हो सकेगा मैं बताऊंगा… अभी ज्यादा कुछ तय नहीं किया है क्योंकि मैं खुद अपने काम में बहुत व्यस्त हूँ… फिलहाल कुछ जानकारियाँ नीचे दे रहा हूँ…

पिछले 4 वर्षों में जब मीडिया आपको कई ऐसे विषयों, जिनका कोई औचित्य नहीं हैं, में उलझा रहा था और कम्युनिस्ट अपने बनाए एजेंडा पर सफलतापूर्वक आपका ध्यान केंद्रित करवा के आपको उलझाया हुआ था… \

उस समय हम लोगों की अपनी सरकार सबसे गालियाँ खाते हुए और कई बार आप लोगों से ही विरोध और गालियां सुनते हुए भारत के रक्षा विभाग के लिए जो कर रही थी उसको जानिए…

Make in India के तहत भारत सरकार ने अनेकों उपलब्धियां हासिल कीं जिसके दम पर अगले 5-10 वर्षों में हम न सिर्फ स्वावलम्बी होंगे, बल्कि उत्पादन और निर्यात करेंगे…

इसमें भारत के आम नागरिकों के लिए भी बहुत कुछ है… सुनियोजित तरीके से सरकार के कार्य करने के कदम इस तरह से रहे…

Make in India का लक्ष्य —> इसके लिए प्रक्रिया को सुगम बनाना —> क्षेत्रों की पहचान —> उसके लिए पालिसी बनाना —> फिर बड़े उत्पादकों से कॉन्ट्रैक्ट बनाना —> प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए जगह सुनिश्चित करना (उदाहरण के लिए UP का डिफेन्स कॉरिडोर)…

Make in India के तहत होने वाले कॉन्ट्रैक्ट निम्न हैं…

अमेरिका के LockheedMartin (USA) ने भारत के Tata (India) से अनुबंध किया – बनेगा F -16 Fighter.

स्वीडन के Saab (Sweden) ने भारत के Adani (India) से अनुबंध किया – बनेगा Gripen Fighter.

रूस के Sukhoi (Russia) ने भारत के HAL (India) से अनुबंध किया – बनेगा FGFA Fighter.

अमरीका के Boeing (USA) ने भारत के Mahindra तथा HAL (India) से अनुबंध किया – बनेगा F-18 Super Hornet Naval Fighter.

स्पेन के CASA (Spain) ने भारत के Tata (India) से अनुबंध किया – बनेगा C-295 Transport Aircraft.

अमरीका के Boeing (USA) ने भारत के HAL (India) से अनुबंध किया – बनेगा Apache AH-64 Combat Helicopters.

रूस के Kamov (Russia) ने भारत के HAL (India) से अनुबंध किया – बनेगा Ka-226T Utility Helicopter.

फ्रांस के Airbus (France) ने भारत के Mahindra (India) से अनुबंध किया – बनेगा EC-145 Utility Helicopter.

फ्रांस के DCNS (France) ने भारत के MazagonDock (India) से अनुबंध किया – बनेगा Kalwari Class Attack Submarine.

फ्रांस के Snecma (France) ने भारत के DRDO (India) से अनुबंध किया Kaveri Engine को उत्कृष्ट बनाने की तकनीकी ट्रांसफर होगा.

फ्रांस के Thales (France) ने भारत के RelianceDefence (India) से अनुबंध किया – बनेगा Radar & Electronic Warfare.

दक्षिण कोरिया के Techwin (South Korea) ने भारत के Larsen & Toubro (India) से अनुबंध किया – बनेगा K-9 Thunder Propelled Howitzer.

अमेरिका के BAE (USA) ने भारत के Mahindra से अनुबंध किया – बनेगा K M777 Howitzers.

इजराइल के Rafael, Elta & IAI (Israel) ने भारत के BDL से अनुबंध किया – बनेगा Barak-8 Air Defence Missile.

इजराइल के Rafael Elta & IAI (Israel) ने भारत के Kalyani Group से अनुबंध किया – बनेगा Spike ATGM.

अमेरिका के BAE Systems (USA)ने भारत के Kalyani Group से अनुबंध किया – बनेगा Base Protector Air Defence Guns.

स्वीडन के Saab (Sweden) ने भारत के OFB से अनुबंध किया – बनेगा Carl Gustaf Rocket Launcher.

इजराइल के IWI (Israel) ने भारत के PunjLloyd से अनुबंध किया – बनेगा Tavor ISNAS.

फ्रांस के Thales Gp (France) ने भारत के MKU से अनुबंध किया – बनेगा CQB Carbine and night vision devices.

जापान के ShinMaywva (Japan) ने भारत के Mahindra Def (India) से अनुबंध किया – बनेगा US-2i Amphibious Naval Plane.

इजराइल के Elbit Systems (Israel) ने भारत के GRSE (India) से अनुबंध किया – बनेगा Seagull USV (unmanned surface vessels).

इजराइल के BlueBird Aero ने भारत के Cyient (India) से अनुबंध किया – बनेगा UAV systems.

अरब अमीरात के Caracal’s (UAE) ने भारत के MKU से अनुबंध किया – बनेगा CS338 Sniper Rifle.

फ्रांस के Dassault (France) की और भारत के HAL (India) तथा रिलायंस के बीच Rafale Fighter बनाने का करार पर हस्ताक्षर हुए.

जापान की Mitsubishi (Japan)और भारत के GRSE (India) के बीच Project 75-I Submarine के लिए बातचीत जारी है.

फ्रांस के Mistral (France) और भारत के DRDO के बीच Mistral VSHORD के लिए बातचीत जारी है.

रूस के Kalashnikov (Russia) और भारत के OFB के बीच AK-103 Assault Rifles के लिए बातचीत जारी है.

ये लिस्ट सिर्फ वो हैं जिसमे विदेशी कंपनियों के साथ करारों पर सहमति बन चुकी है, contract हो चुका है, कई प्रोजेक्ट पर काम चालू होने की तरफ बढ़ गए हैं और कई पर आगे बढ़ना शुरू होना है.

उदहारण के लिए इसी वर्ष लखनऊ में हुए UP Summit में जब Defense Corridor की बात रखी गई तो लगभग करार पूरे थे, अब उसको धरातल पर लाने का काम करना है.

इस corridor में जितनी भी बड़ी कंपनी आएंगी उन सबको बहुत सारा कच्चे माल और अपने अनुसार बने बनाए माल की आवश्यकता होगी… तब ये सब कंपनी अपने लिए ancillary unit चाहेंगी… अब हम और आप वो ही ancillary unit बन सकते हैं…

एक पेंच से लेकर, शीट, सीट कवर, चादर, तार, बल्ब, tube और इलेक्ट्रॉनिक बोर्ड आदि न जाने कितना कुछ उनको चाहिए होगा. वो बड़ी कंपनी अपने डिज़ाइन देकर ancillary unit से सामान बनवाएंगी और खुद खरीद लेंगी. आपको बस उनके मानकों के अनुसार काम करना होगा…

समय की मांग है कि अब आप स्किल पर ध्यान दें… राजनीति और जात पात से ऊपर उठकर अपने knowledge को धार दीजिए, अपने को उद्यमी बनाइये… इस सरकार ने जो चीजें आपके लिए उपलब्ध करा दी हैं रोज़गार के लिए वो कभी किसी ने सोचा भी नहीं था… स्वरोजगार ही भविष्य है…

भविष्य देखिए और उसके अनुसार अपने को किसी एक विषय/ तकनीकी का एक्सपर्ट बनाइए… आरक्षण, जनरल के दड़बे से बाहर निकलकर सरकार की नौकरी का मुँह ताकने की जगह अपने स्किल को धार दीजिए…

And Finally Trust NaMo Trust Yogi

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY