सच तो बस इतना है कि मन में छाए दुःख को हल्का कर देते हैं त्यौहार

सूर्य का मेष राशि में प्रवेश हुआ- आप सभी को ‘विशु’ की शुभकामनाएँ.

सुबह आँख खोलते ही सबसे पहले भगवान विष्णु के सामने रखे अमलतास के फूल, नारियल, आम, ककड़ी, केला, नीबू और स्वर्ण देखने की प्रथा है. ये ‘विशु कणि’ कहलाती है.

सामने एक आईना रखते हैं – अरमुला कन्नाडी (अरमुला में बनाया ख़ास किस्म का आईना जो मेटल का बना होता है,कांच का नहीं).

आईने में दिखता प्रतिबिंब खुशियों को दुगुना दिखाता है. घर धन-धान्य से भरा रहता है.

इस दिन अपने से छोटों के हाथ में पैसे देने का रिवाज़ भी है – विशु कईनीटम कहते हैं.

सच तो बस इतना है कि त्यौहार मन में छाए दुःख को हल्का कर देते हैं.

– अनुलता राज नायर

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY