अगर कुछ लोग मुझे भक्त कहते हैं, तो मुझे सहर्ष स्वीकार है यह सम्मान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण मैं समय मिलने पर सुनने या पढ़ने का प्रयास करता हूँ. एक-एक वाक्य में वे भारत के बारे में अपने विज़न और समस्याओं के व्यावहारिक समाधान से ना केवल अवगत कराते है, बल्कि बतलाते है कि कैसे उस विज़न और समाधान को लागू किया जा सकता है. जैसे कि एक … Continue reading अगर कुछ लोग मुझे भक्त कहते हैं, तो मुझे सहर्ष स्वीकार है यह सम्मान