जी हाँ, आप से कहा जाएगा कि शर्म करो, आप एक हिन्दू हो

वामपंथियों का समाज पर कितना प्रभाव है? चलिये, एक ट्रायल कर लीजिये. फ्री में !

अगर कठुआ कांड में लश्कर ए मीडिया जो नेरेटिव चला रहा है, उसे चैलेंज करके देखिये…

और बस देखते जाहिए आप की फ्रेंड लिस्ट की कितनी महिलाएं आप पर टूट पड़ती हैं, आप को बुरा भला कहती हैं.

आप कुछ तर्क दो, तो वे तुरंत उन्नाव पर उतरेंगी. बाकी भारत भर में जितने भी ‘शांतिपूर्ण रेप’ होते हैं उनकी जानकारी या उस पर मीडिया की चुप्पी उनको नहीं सुननी.

उनका एक ही घोष होता है – इसमें हिन्दू मुस्लिम बात मत करो, बलात्कार; बलात्कार होता है, इसमें धर्म की बात मत करो, और अंत में…

जी हाँ, आप से कहा जाएगा कि शर्म करो, आप एक हिन्दू हो.

अभी ये सोशल मीडिया पर हाथ में प्लेकार्ड लेकर खड़े नमूने देखे हैं? अब उन प्लेकार्ड्स पर लिखा है ‘I AM HINDUSTAN’.

शुरुआती प्लेकार्ड्स थे ‘I AM HINDU’.

देख लीजिये, कितने झट से ये लोग respond कर लिए और रणनीति और मैसेज बदल लिए. सब का मैसेज एक, क्योंकि सब का मालिक एक.

क्या आप ने कभी सोचा है कि आप की परिचित महिलाएं आप पर क्यों टूट पड़ती हैं? तो समझ लीजिये एक बड़ा राज़.

वे टूट पड़ती हैं क्योंकि वे किसी तरह इनमें से किसी नमूने की फ्रेंड लिस्ट में हैं जिसे सेलेब्रिटी कहते हैं.

या उनकी कोई फ्रेंड ऐसे सेलिब्रिटी की फ्रेंड लिस्ट में हैं और इसलिए ये उनसे थोड़ा जलती भी होंगी लेकिन उनको मानती भी हैं.

दुर्भाग्य से ऐसे उथले मानसिक दिवालिये सेलिब्रिटियों से मित्रता होना कई लोगों के लिए स्टेटस सिंबल माना जाता है. उनके फ्रेंड की फ्रेंड लिस्ट में होना भी इनकी नज़र में स्टेटस सिंबल है.

और इन सेलिब्रिटियों के, या उनके फ्रेंड्स के फ्रेंड लिस्ट से निकाल दिया जाना बड़े शर्म की बात होती है इनके लिए.

तो खेल कुछ यूं होता है कि किसी चुने हुए मुद्दे पर सामूहिक ‘हूंआ हूंआ’ करने के बाद ये दिमाग से दिवालीये सेलेब्रिटी कोई घोषणा कर देते हैं कि इससे विरोधी मत रखने वाला कोई भी व्यक्ति मेरे फ्रेंड लिस्ट में रह नहीं सकेगा.

ऐसे @#$&&() व्यक्ति से मैं किसी भी तरह से जुड़े रहना पसंद नहीं करूंगा. खुद तो छोड़िए, ऐसे विचारों के लोगों से दोस्ती रखने वालों को भी मेरे फ्रेंड लिस्ट में स्थान नहीं होगा.

‘सी फर्स्ट’ में आप के इन मित्रों और खास कर मित्राणियों के पास ये ‘फतवा ए सेलिब्रिटी’ आ जाता है और ये अपनी फ्रेंड लिस्ट की छान बीन शुरू करते हैं कि कौन मेरे आराध्य सेलेब्रिटी से अलग सोचता है?

क्योंकि इनको पता है, और उससे भी अधिक डर है कि कहीं वो सेलेब्रिटी उनको यह न पूछे कि तुम्हारे लिस्ट में यह व्यक्ति अभी तक क्यों है? हो जाओ तुम अब्बी के अब्बी मेरे लिस्ट से बाहर!

और वो न पूछे तो इनकी ही कोई और फ्रेंड पूछेगी कि तेरे फ्रेंड लिस्ट में ये क्यों दिख रहा है अभी तक?

कम्युनिस्ट देशों में यह चुगलीबाजी ऑफिशियल थी, लेकिन इनके ये माइंड मैनीप्यूलेशन के तरीके यहाँ भी इस तरह से काम में लाते हैं.

वैसे यह जरूरी नहीं कि ये सेलेब्रिटी जानते हैं कि उनको इस तरह यूज़ किया जाता है. और जानते होंगे तो भी मजबूर होते हैं क्योंकि उनका सेलिब्रिटी होना ही उनके कठपुतली होने पर निर्भर होता है.

और आप को लगता है कि ये आप के दिमाग को प्रभावित करने निकली एक सेना नहीं है, बल्कि आप जैसे खुले दिमाग के अच्छे लोग हैं… रियली, आप बड़े क्यूट हो!

एक फ्री ट्रायल ले कर देखेंगे? इस मैसेज को अपनी वॉल पर लगाये और देखिये मज़ा. मजा आयेगा यह गारंटी दे रहा हूं फ्री में.

हाँ, यह होगा कि कुछ कटौती हो जाएगी लेकिन वो आप का रिस्क रहेगा कि आप उसे छोड़ना चाहते हैं या अपने मूल्यों से समझौता करना आप के लिए अधिक आसान है.

जय हिन्द.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY