Hypertension : क्या हाई ब्लड प्रेशर बिना दवाओं के ठीक हो सकता है?

तो उत्तर है हाँ. लेकिन यह hypertension के कारण एवं स्टेज पर निर्भर करता है. जिसे मैं आगे विस्तार से समझाऊंगा. उच्च रक्तचाप को 6 mm hg तक नीचे खान पान से लाया जा सकता है जबकि व्यायाम साथ में किया जाए तो इसे 16 mm hg तक कम किया जा सकता है.

हाई ब्लड प्रेशर से भारत में 35 प्रतिशत वयस्क प्रभावित हैं. इस जनसंख्या में यह कितनी बड़ी संख्या होगी अंदाज़ लगाइए.

लेकिन दुखद बात यह है कि इनमें से 50 प्रतिशत लोगों को पता ही नहीं होता कि उन्हें उच्च रक्त चाप है. क्योंकि आम तौर पर उच्च रक्त चाप के या तो कोई लक्षण नहीं होते अथवा चिड़चिड़ा पन, सर दर्द जैसे nonspecific लक्षण होते हैं.

एवं धमनियों पर औऱ अंगों पर पड़ता यह अतिरिक्त लगातार दबाब कुछ महत्वपूर्ण अंगों को धीमे धीमे क्षति पंहुचाता रहता है.

जिसमें सर्वाधिक प्रभावित होने वाले अंग होते हैं..

1. किडनी : किडनी खराब होना

2. मस्तिष्क : मस्तिष्क में रक्तस्त्राव हो लकवा लगना

3. हृदय : हार्ट अटैक आना

4. आंखें : रेटिना को नुकसान पंहुचना.

इसी वजह से hypertension को ‘साइलेंट किलर ‘ की संज्ञा दी गई है.

2010 के आंकड़ों के अनुसार मानव वयस्कों की कुल मृत्यु का 18 प्रतिशत भाग उच्च रक्त चाप की वजह से था.

American Heart Lung Blood association ने एक बड़ा शोध पत्र प्रकाशित किया जिसमें सही पोषण से बेहद प्रभावी ढंग से BP को कंट्रोल किया जा सका.

इस खास डाइट का नाम है DASH Diet..

Dash अर्थात Dietary Approach to stop Hypertension.

स्टेज 1 हाइपरटेंशन को तो मात्र दवाओं, व्यायाम से ठीक किया जा सकता है किंतु स्टेज 2 हाइपरटेंशन में इन दो तरीकों के अतिरिक्त चिकित्सकीय सलाह पर दवाओं की आवश्यकता होती है. हाई बीपी की दवाएं आजकल बेहद अच्छे स्तर के बहुत सारे विकल्पों में उपलब्ध है.

मैंने आज जो वीडियो अपलोड किया है यूट्यूब पर उसमें उच्च रक्त चाप के कारण, स्टेज, परिभाषा, कारण की जानकारी दी है.

साथ ही Dash Diet क्या है बताया है. डैश डाइट का उपयोग आसान, सस्ता, सुलभ है. बस जानकारी का इस्तेमाल रोज़ाना आवश्यक है.

जिन्हें आवश्यकता हो वहां देख लें.

Dash Diet एक आम परिवार को भी लेना चाहिए भले उच्च रक्तचाप न हो.

मनुष्यों में उच्च रक्तचाप के केसेस बेतहाशा बढ़ने की एक प्रमुख वजह processes food भी है. जिनमे सोडियम का इस्तेमाल नमक एवं preservatives के रूप में होने से मनुष्य आवश्यकता से काफी अधिक नमक खाने लगे हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY