NCC क्या बला है यार?

NCC क्या बला है यार? अपन को तो NCP मालूम है, वो दाउद पार्टी… मतबल दादा पार्टी… छगन दादा (जेल में हैं या बेल पर!) की पार्टी, मतलब दादा अजित पवार पार्टी…

NCC क्या बला है यार? अपन इस मामले में एकदम पप्पू गंदी है… अपन को तो INC मालूम है, यानी इंदिरा नेहरू काँग्रेस… काँग्रेस टिकिटार्थी इसे गर्व से इंडियन नेशनल काँग्रेस कहते हैं. काँग्रेस टिकिटार्थी इसलिए लिखा कि अब समर्थक और चमचे तो बचे नहीं…

NCC क्या बला है यार? अपन को CNN मालूम है… हालांकि जब तक नहीं मालूम था, तब अपन इसे बड़ी भारी अमेरिकी तोप समझते थे… सीएनएन… सनननsss… और यूं ही नहीं समझते थे… ऐसा समझने का कारण था… कारण था कैनन यानी cannon (डबल N का ध्यान रखिए)…

तो CNN को बड़ी भारी अमेरिकी तोप समझने का कारण ये डबल एन वाली cannon था, जिसका short फॉर्म अपन ने CNN समझ लिया…

वो तो बहुत बाद में पता चला कि अपन जबरन आतंकित थे इस CNN को cannon समझ कर… ये तो कोई मेरे शहर का घटिया सा सिटी केबल जैसा कुछ है, जिसका फुल फॉर्म वाकई Cable News Network ही है.

पर मूल प्रश्न तो जस का तस है… कि ये NCC क्या बला है यार?

जब देश का चिर युवा नेता says, “I don’t have much idea about NCC and its functioning.. I mean, I don’t know much about NCC…”, तो अपनी क्या मजाल कि अपन NCC के बारे में ज्ञान बघार के खुद को वृद्ध साबित करें…

ऐसे में असमंजस में पड़ा देख पड़ोस के बच्चे… 6th क्लास के छात्र ने प्रभु रूप धारण किया (न जाने किस भेस में मिल जाएं नारायण टाइप) और समझाया कि Uncle, NCC means National Cadet Corps… The NCC in India was formed with the National Cadet Corps Act of 1948. It was raised on 15 July 1948. The origin of NCC can be traced back to the ‘University Corps’, which was created under the Indian Defence Act 1917, with the objective to make up the shortage of the Army…

यानी मिडल स्कूल के बच्चे को जो जानकारी है, वो 48-49 साल के गंदी बाऊ को नहीं… ये मिडल स्कूल पढ़े बिना ही हार्वर्ड-ऑक्सफ़ोर्ड या पता नहीं कौन सी यूनिवर्सिटी घूम आया…

गंदी बाऊ… देश को पप्पू बनाना छोड़ दो यार… तुमने सुना नहीं तुम्हारे मप्र वाले गुफ़रान-ए-आज़म अंकल ने ABP न्यूज़ पर अम्माजी और तुम्हारे बारे में क्या कहा…

गुफ़रान चचा, नवाब के शहर हैं और उर्दू ज़बान बोलते हैं… वरना ये बात तो फेसबुकिया बिरादरी कब से कहती आ रही है कि राउल विंसी, रहन दो बे, तुमसे न हो पाएगा.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY