राज्‍यसभा की 25 सीटों के लिए 6 राज्यों में चुनाव आज, यूपी की 10वीं सीट पर रोचक मुकाबला

उत्तरप्रदेश की दस सीटों सहित 6 राज्यों की कुल 25 राज्यसभा सीटों पर शुक्रवार (23 मार्च) को चुनाव होगा. इसके लिए मतदान सुबह 9 बजे शुरू होकर शाम 4 बजे तक चलेगा.

केरल से जेडीयू के राज्यसभा सदस्य एम पी वीरेन्द्र कुमार के इस्तीफे से खाली हुई सीट पर भी उपचुनाव होगा. इससे पहले राज्‍यसभा की बाकी 33 सीटों पर एक ही उम्मीदवार होने के कारण इनका 15 मार्च को ही निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है.

सबसे रोचक मुकाबला अगर उत्‍तर प्रदेश में होने जा रहा है, जहां भाजपा की रणनीति के चलते बसपा के उम्मीदवार की दावेदारी पर संशय उत्पन्न हो गया है.

उप्र विधानसभा में संख्या बल के आधार पर भाजपा के 8 उम्मीदवारों का निर्वाचन तय है, जबकि एक सीट सपा को मिलेगी. शेष बची एक सीट को अपनी झोली में डालने के लिए सपा और बसपा का भाजपा से संयुक्त मुकाबला होगा.

भाजपा ने दस सीटों के लिए 11 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे हैं. सपा ने अपनी मौजूदा राज्यसभा सदस्य जया बच्चन को और बसपा ने भीमराव अंबेडकर को उम्मीदवार बनाया है.

बसपा उम्मीदवार को 47 विधायकों वाली सपा के शेष 10 विधायकों का समर्थन देने की पार्टी नेतृत्व ने पहले ही घोषणा कर दी है, लेकिन क्रॉस वोटिंग की आशंका के कारण बसपा प्रमुख मायावाती ने सपा नेतृत्व से बसपा उम्मीदवार को वोट देने वाले दस विधायकों की सूची मांगी है.

बसपा की परेशानियां तब और भी बढ़ गईं जब जेल में बंद उसके बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के राज्यसभा चुनाव में वोट देने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है.

स्थानीय कोर्ट ने 20 मार्च को मुख्तार अंसारी को वोट डालने की इजाजत दी थी. इसे राज्य की योगी सरकार ने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. हाईकोर्ट ने सरकार के पक्ष में फैसला सुनाते हुए मुख्तार अंसारी के वोट डालने पर रोक लगा दी है.

अंसारी एक हत्या के मामले में जेल की सजा काट रहे हैं. इसके अलावा समाजवादी पार्टी के जेल में बंद विधायक हरिओम यादव के वोट डालने पर भी स्थानीय प्रशासन ने रोक लगा दी है.

सपा के अलावा बसपा उम्मीदवार को कांग्रेस और रालोद के विधायकों का भी समर्थन देने की घोषणा संबद्ध दलों द्वारा पहले ही की जा चुकी है.

चुनावी दौड़ में भाजपा के उम्मीदवारों में अरुण जेटली, अशोक बाजपेई, विजय पाल सिंह तोमर, सकलदीप राजभर, कांता कर्दम, अनिल जैन, हरनाथ सिंह यादव, जीवीएल नरसिंहाराव और अनिल कुमार अग्रवाल शामिल हैं.

निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए उम्मीदवारों में केन्द्रीय मंत्रियों में रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर सहित सात मंत्री शामिल हैं.

इसके अलावा कर्नाटक में चार सीटों के लिए चुनाव मैदान में उतरे पांच उम्मीदवारों में कांग्रेस के तीन और भाजपा तथा जद एस का एक-एक उम्मीदवार हैं.

छत्तीसगढ़ की एक सीट के लिए भाजपा और कांग्रेस ने एक एक उम्मीदवार उतारा है. वहीं, तेलंगाना की तीन सीटों के लिए चार उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY