वास्तु टिप्स : नमक से घर में आती है बरकत और सुख-समृद्धि

नमक खाने को ही स्वादिष्ट नहीं बनाता अपितु घर में नमक से ही बरकत व् सुख-समृद्धि का वास होता है. भारत के कई राज्यों में आज भी बेटी के विवाह के समय विदाई करते समय बेटी को खड़े साबुत नमक की थैली अवश्य दी जाती है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नमक को सूर्य, चंद्र, शुक्र और राहु का प्रतीक माना जाता है. नमक का उपयोग करना बहुत कम लोग जानते हैं.

– नमक मिले पानी से स्नान करने से नजर दोष और स्वास्‍थ्य संबंधी परेशानियों में कमी आती है.

– नमक मुफ्त में किसी व्यक्ति को देने से संबंध खराब होते हैं.

– पारिवारिक सदस्यों को नजर लगने पर एक चुटकी नमक उनके ऊपर से तीन बार घुमाने के बाद बाहर फेंक दें या पानी में बहा दें. ऐसा करने से नजर दोष समाप्त हो जाता है.

– वास्तुदोष को खत्म करने के लिए कांच की कटोरी में नमक डाल कर शौचालय और स्नान घर में रखें.

– बीमार व्यक्ति के पास कांच की कटोरी मे नमक रखने से वह जल्दी ठीक हो जाता है क्योकि नमक और कांच राहु की वस्तुएं होने के कारण उनके नकारात्मक प्रभाव को समाप्त करते हैं. राहु को नेगेटिव एनर्जी और कीट-कीटाणुओं का भी सूचक माना जाता है.

– टुकड़े वाले नमक को लाल रंग के वस्त्र में बांधकर पोटली बनाकर घर के मेन गेट पर लटकाने से बुरी शक्तियां घर में प्रवेश नहीं कर सकती.

– रात्रि से पूर्व पानी में चुटकी भर नमक मिलाकर हाथ-पांव धोने से चिंताओं से छुटकारा मिलता है और अच्छी नींद आती है.

– घर में रॉक साल्ट लैंप रखने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है. वास्तु के अनुसार इस उपाय से घरेलू जीवन में समन्वय और सुख-समृद्धि बढ़ती है. रोगों का भी नाश होता है.

वास्तु, सर्टिफाइड रत्न (पुखराज, नीलम, माणिक्य, ओपल, पन्ना ), रुद्राक्ष, माला (रुद्राख, हकीक, मोती, क्रिस्टल, मूंगा, सुलेमानी हकीक), शंख, हकीक, गोमती चक्र, तंत्र, पूजा, वास्तु, पारद, क्रिस्टल सामान अपने घर/कार्यालय पर कूरियर/डाक से मंगवाने के लिए हमे लिखे.

Harshal Khairnar
Vastu & Dowsing Expert
मोबाइल : 9300002542

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY