भारतीय नव वर्ष के जुलूस पर हमला, पुलिस फायरिंग, इंटरनेट सेवाएं बंद

भागलपुर (बिहार) के नाथनगर में भारतीय नव वर्ष (चैत्र प्रतिपदा) की पूर्व संध्या पर निकाले जा रहे जुलूस को लेकर दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प हो गई.

सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन हालात बिगड़ते देख पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी. बताया जाता है कि पुलिस पर भी पथराव किया गया.

शनिवार को विक्रम संवत आधारित भारतीय कैलेंडर को लेकर जुलूस निकाला जा रहा था. जुलूस के जरिये लोगों को हिंदू कैलेंडर व्यवस्था समझाने का प्रयास किया जा रहा था.

यह जुलूस मदनी चौक के पास रुक गया. यह मुस्लिम बहुल इलाका है. बताया जाता है कि स्थानीय लोगों ने इस जुलूस का विरोध किया.

दोनों समूहों में पहले बहस हुई, जिसने बाद में हिंसा की शक्ल ले ली. एक दोपहिया वाहन को आग के हवाले कर दिया. कुछ दुकानों में भी तोड़फोड़ की गई.

घटना के मद्देनजर रविवार को कोई अफवाह न फैले, इसलिए शांति बनाए रखने के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है.

भागलपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मनोज कुमार ने बताया कि यह घटना नाथनगर पुलिस थाना इलाके में हुई. इस इलाके में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजीत चौबे की अगुवाई में बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का एक जुलूस निकला था.

उन्होंने कहा कि नए विक्रम संवत वर्ष की पूर्वसंध्या पर निकाले गए इस जुलूस की शुरुआत बुधनाथ मंदिर से हुई और पूरे शहर से होते हुए यह नाथनगर पहुंचा. एसएसपी ने बताया कि कुछ स्थानीय लोगों ने गाने बजाने पर आपत्ति जताई जिसकी वजह से तनाव पैदा हो गया. लेकिन पुलिस के दखल के बाद जुलूस आगे बढ़ा.

एसएसपी ने बताया कि इसके तुरंत बाद दो अलग-अलग समुदायों के स्थानीय लोगों के बीच झगड़ा हो गया, गोलियां चली, पथराव हुए और दुकानों एवं वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया. कुमार ने कहा कि मौके पर पहुंची पुलिस टीम का हिस्सा रहे दो पुलिसकर्मियों की बांह पर गोलियां लगी लेकिन उन्हें खतरे से बाहर बताया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि एक स्थानीय निवासी को ईंट से चोट लगने से उसका पांव जख्मी हो गया जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया. इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है. एसएसपी ने कहा कि मामले की जांच जारी है और उपद्रवियों की पहचान कर गिरफ्तारियां की जाएंगी.

वहीं चारा घोटाले में सज़ायाफ्ता लालू के बेटे ने इसे राजनीति का मौका समझ कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर लिया है.

लालू-पुत्र तेजस्वी ने ट्वीट में लिखा है- ‘हार से घबराये व बौखलाहट में कल शाम भागलपुर में दंगा करवाया गया. अररिया, दरभंगा के बाद अब भागलपुर. नीतीश कुमार इतने असहाय, बेबस और लाचार क्यों है? गृह विभाग नीतीश कुमार के पास है वो माहौल बिगाड़ने वाले ऐसे तत्वों और शक्तियों को प्रायोजित और प्रोत्साहित क्यों कर रहे है?’

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY