दासी : लगता है कि मेरा कोई आख़िरी इम्तिहान बाकी रह गया..

दासी. 1981

“नहीं, मुझपर दया करो. अपने घर के किसी कोने में सिर्फ थोड़ी सी जगह दे दो, मैं वहीं पड़ी रहूंगी और नौकर की तरह सब काम करती रहूंगी”.

कई बार फिल्मों में हमने हीरोइन को इस तरह से हीरो (या कई बार विलेन भी) के सामने कहते गिडगिडाते देखा है. लेकिन कभी ऐसा होते देखा नहीं.

मौसमी चटर्जी राकेश रोशन से प्यार करती थीं, पर राकेश रोशन तो सिर्फ शारीरिक प्यार के भूखे थे. एक गरीब लड़की से शादी उनको मंजूर नहीं थी..

गरीब लड़की की किस्मत. मौसमी चटर्जी की शादी अंधे संजीव कुमार से हो जाती है. मन मसोस कर, पर फिर संजीव कुमार के अच्छे व्यवहार की वजह से वो अपने पति को बहुत प्यार करने लगती है.

विलेन की एन्ट्री.

राकेश रोशन संजीव कुमार के मित्र निकले. उन्होंने मौसमी चटर्जी से शारीरिक रिश्ते बनाने चाहे पर मौसमी ने स्पष्ट मना कर दिया कि जब वह अविवाहित थी, तब भी राकेश रोशन की शारीरिक सम्बन्ध की बात कभी नहीं मानी थी, अब तो वह किसी की पत्नी थी. चिढकर, चालाकी से राकेश रोशन संजीव कुमार को इशारों में जता देता है-झूठ बोल देता है कि वह मौसमी चटर्जी से शारीरिक सम्बन्ध रख चुका है और शादी के बाद भी ये रिश्ता कायम है.

संजीव कुमार पत्नी को पत्र लिखकर- अपना घर पत्नी को सौंपकर, अनजान जगह (बम्बई) को चले जाते हैं. और वहां रेखा के सहयोग से मशहूर गायक बन जाते हैं. मौसमी चटर्जी उनको ढूंढती वहीं आ जाती हैं. पर जब नौकर से पता चलता है कि पति उनके नाम से भी नफरत करता है तो नौकरानी – वो भी गूंगी – नाम ‘दासी’ से वहीं रहने लगती है. पति के घर में एक गूंगी नौकरानी जो सिर्फ पति के साथ रहने के लिए वहां रह रही है.

कुछ समय बाद राकेश रोशन की एक एक्सीडेंट में मौत हो जाती है, पर मरने से पहले वो पश्चाताप स्वरुप अपनी आंखें संजीव कुमार को देने व अपने मौसमी चटर्जी से कोई शारीरिक सम्बन्ध न होने की बात रेखा को बता जाता है. संजीव कुमार की आंखें सही हो जाती हैं तो रेखा उसको बताती है कि ‘दासी’ ही उसकी पत्नी है, और पूरी तरह से गंगा की तरह पवित्र है.

सुखद अन्त.

मेरी देखी सैकड़ों फिल्मों में अकेली फिल्म जिसमें पत्नी सिर्फ पति के साथ रहने के लिए गूंगी नौकरानी बनकर उसी घर में महीनों रहती है. अपने पति के पास – लेकिन बहुत दूर.

“दासी” 1981.

राज खोसला के निर्देशन की एक बहुत प्यारी फिल्म. लता मंगेशकर, मन्ना डे, आशा ताई और किशोर कुमार की आवाज में कई शानदार गीत..

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY