‘लुटियनिया’ पत्रकारों का विरोध और मुठभेड़ों का समर्थन करिए, आपका ऋणी रहेगा यूपी

लगभग 30-35 वर्षों से खबरों को ठीक से पढ़ता भी रहा हूं और समझता भी रहा हूं.

अतः दावे के साथ कह सकता हूं कि उत्तरप्रदेश में ऐसा दौर कभी नहीं देखा सुना कि फरार और इनामी दुर्दान्त अपराधी स्वयं पुलिस थाने पहुंच कर गुहार लगा रहे हैं कि हमें गिरफ्तार कर लो.

जिन अपराधियों को कोर्ट से ज़मानत मिल गयी है वो ज़मानत नहीं करा के जेल में ही बन्द रहना चाह रहे हैं. जो शातिर दुर्दान्त अपराधी ज़मानत करा के बाहर घूम रहे थे उनमें अपनी ज़मानत रद्द करा के वापस जेल जाने की होड़ लगी हुई है.

दुर्दान्त अपराधियों के साथ यूपी पुलिस द्वारा की जा रही मुठभेड़ों के कारण ही ऐसा हो रहा है.

इन मुठभेड़ों में अबतक 40 से ज्यादा अपराधी मौत के घाट उतार दिए गए हैं. 300 से ज्यादा घायल हुए हैं और 2500 से ज्यादा अपराधी गिरफ्तार हुए हैं.

ऐसे अपराधियों की लगभग डेढ़ सौ करोड़ की सम्पत्ति जब्त की जा चुकी है. यह सभी अपराधी हत्या, लूट, अपहरण सरीखे जघन्य अपराधों में नामज़द और फरार थे.

पुलिस ने उनपर भारी इनाम घोषित कर रखा था. ऐसे अपराधी भूमाफियाओं के कब्ज़े से लगभग 52 हज़ार हेक्टेयर सरकार जमीन छुड़ाई जा चुकी है.

इस पुलिस कार्रवाई के परिणामस्वरूप यूपी की जनता, विशेषकर व्यापारी और महिलाएं पिछले तीन दशकों में पहली बार भयमुक्त होकर सुख की सांस ले रही है.

इस सन्दर्भ में किसी भी वर्ग के व्यक्ति से बात करिये, हर व्यक्ति मुक्त कंठ से योगी सरकार की इस कार्रवाई की सराहना करता हुआ मिल जाएगा.

लेकिन दिल्ली का लुटियनिया मीडिया इन अपराधियों के बचाव और समर्थन में खुलकर मैदान में आ गया है. योगी सरकार की इस कार्रवाई का उसने प्रचण्ड विरोध शुरू कर दिया है.

कल न्यूज़ चैनल आजतक ने इन मुठभेड़ों के ख़िलाफ़ लगभग आधे घण्टे लम्बी रिपोर्ट दिखायी.

कुछ वर्ष पूर्व इंडियन एक्सप्रेस के सम्पादक के रूप में पूरे प्रथम पृष्ठ पर भारतीय सेना में बगावत की झूठी खबर लिखकर भारत में कुख्यात और पाकिस्तान में अत्यधिक लोकप्रिय हुए शेखर गुप्ता और उस जैसे कई नामी गिरामी लुटियनिया पत्रकार लगातार अपनी वेबसाइट्स और सोशल मीडिया में भी, यूपी में मुठभेड़ में मारे जा रहे, घायल हो रहे, पकड़े जा रहे दुर्दान्त अपराधियों के बचाव और समर्थन में तथा योगी सरकार की कार्रवाई के विरोध में जबरदस्त अभियान चला रहे हैं.

इनका ज़ोरदार विरोध अपने स्तर से करिये. इन मुठभेड़ों को अपना ज़बरदस्त समर्थन दीजिये और उस समर्थन का प्रचार भी कीजिये. उत्तरप्रदेश हमेशा आपका ऋणी रहेगा.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY