मेघालय में हुआ गोवा पार्ट-2, एनपीपी संग मिल भाजपा बनाएगी सरकार

शिलॉन्ग. मेघालय में एनपीपी नेता कोनराड संगमा के नेतृत्व में एनपीपी- भाजपा गठबंधन ने राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश किया है.

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 21 सीटों पर जीत कर सबसे बड़ी पार्टी बन कर सरकार बनाने की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी.

भाजपा-एनपीपी की इस गठबंधन की सरकार में यूडीपी के 6 विधायकों के अलावा एनपीपी के 19 विधायक, पीडीएफ के 4 विधायक, एचएसपीडीपी के 2 विधायक और एक निर्दलीय विधायक शामिल होंगे.

भाजपा के इस दांव के साथ ही कांग्रेस के लिए मेघालय में गोवा की पुनरावृत्ति हो गई, जहां वह विधानसभा चुनाव के बाद सबसे बड़ी पार्टी थी, लेकिन भाजपा ने वहाँ भी बाज़ी मार ली थी.

कोनराड संगमा 6 मार्च की सुबह 10.30 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. संगमा ने मीडिया से कहा कि गठबंधन की सरकार चलाना कभी आसान नहीं होता, लोगों को अच्छी सरकार देना हमारी प्राथमिकता होगी.

इससे पहले देर रात मेघालय कांग्रेस के अध्यक्ष विंसेंट पाला और पार्टी महासचिव सीपी जोशी ने राज्यपाल गंगा प्रसाद से मुलाकात की थी.

वहीं असम के वित्त मंत्री और पूर्वोत्तर डेमोक्रेटिक अलायंस (एनईडीए) के हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि राज्य में कोई उपमुख्यमंत्री नहीं होगा. उन्होंने कहा, प्रत्येक पार्टी के हर दो में से एक विधायक इस सरकार का हिस्सा होगा. भाजपा भी इस सरकार का हिस्सा रहेगी.’

मेघालय की 60 सीटों वाले विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा कांग्रेस को 21 सीटों पर जीत मिली. लेकिन इसके बावजूद भी वह बहुमत से पीछे रह गई. वहीं दूसरी तरफ नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) को 19 सीटों पर जीत हासिल हुई है.

एनपीपी ने भाजपा से अलग चुनाव लड़ा था लेकिन बहुमत से पिछड़ने पर उसने भाजपा से गठबंधन कर कांग्रेस को सत्ता से बाहर कर दिया है.

उल्लेखनीय है कि मेघालय को भाजपा को सबसे कम दो सीटें मिली हैं. भाजपा ने अपने विधायक ए.एल हेक को मेघालय विधानसभा में पार्टी का नेता घोषित किया है और उनके मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की प्रबल आशा है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY