बुरा न मानो ये सोशल मीडिया की होली है

पहलवान आदित्य सिंह दानु, पहलवान पिता अजित सिंह ‘दद्दा’ से – पापा, टीचर ने मिलने के लिए बुलाया है.

अजित पहलवान : क्यों, क्या हुआ ?

दानु – कल मैथ्स टीचर ने पूछा 7×9 कितना होता है?
मैंने बोला 63.
फिर उसने पूछा 9×7 कितना होता है ?

बेसब्रे अजित पहलवान बीच में बात काटकर : बेवकूफ एक ही बात तो है! पागल समझा है क्या?

दानु – Exactly… मैंने भी यही बोला था।

अगले दिन…

दानु : पापा, आप टीचर से मिले क्या?

दद्दा – नहीं…

दानु : टीचर से मत मिलना। अब आपको प्रिंसिपल से मिलने को बोला है।

दद्दा : क्यों, अब क्या हो गया.?

दानु – पीटी टीचर ने आज क्लास में बोला सीधा हाथ ऊपर करो, फिर बोला उल्टा हाथ ऊपर करो…
अब दायां पैर ऊपर करो, फिर बायां पैर ऊपर उठाओ…

उतावले अजित पहलवान ने फिर बात काटी – तो फिर भो#@ के, मतलब गधा, बेवक़ूफ़ पीटी टीचर, बच्चा खड़ा किस पर होगा, तेरी टांग पर…

दानु – Exactly… मैंने भी यही बोला…

अगले दिन…

दानु : पापा, आप प्रिंसिपल से मिलने गए थे क्या?

पहलवान – आज तो नहीं जा पाया.

दानु : तो अब मत जाना, मुझे एक हफ्ते के लिए suspend कर दिया है।

पहलवान : अबे, अब ऐसा क्या कर दिया तूने?

दानु : मुझे प्रिंसिपल के ऑफिस में बुलाया था… वहां मैथ्स टीचर, पीटी टीचर और हिन्दी टीचर भी था।

पहलवान दद्दा : अबे, हिन्दी टीचर क्या वहां @# &@#ने, मेरा मतलब टिंडे लेने आया था क्या?

दानु : Exactly! मैंने भी तो यही पूछा था!

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY