राहुल गाँधी ही इस देश के प्रधानमंत्री बनने योग्य

पहले मैं राहुल गाँधी को एक मूर्ख, और प्रधानमंत्री पद के लिए सर्वथा अयोग्य व्यक्ति मानता था.

लेकिन हाल में विजय माल्या, और PNB बैंक घोटाले और नीरव मोदी के भाग जाने पर सोशल मीडिया पर लोगों के कमेंट देखने के बाद, मुझे लगने लगा है कि राहुल ही इस देश के प्रधानमंत्री बनने के योग्य है. इस पद का भार वही वहन कर पायेंगे.

ध्यान रहे कि मैं पढ़े लिखे educated मिडिल क्लास लोगों की बात कर रहा हूँ, यानि डॉक्टर्स, इंजिनियर, MBA, सरकारी अधिकारी.

और इन लोगों की मोदी से शिकायत क्या है, कि पहले विजय माल्या और अब नीरव मोदी देश से कैसे भाग गए, मोदीजी के PM बनने के बाद ही PNB बैंक मे स्कैम कैसे चलता रहा? मोदी जी कैसे चौकीदार हैं, और चौकीदार सो रहा है, वगैरह वगैरह.

ये भी शिकायत है कि नीरव ने दावोस में मोदी जी के साथ फोटो कैसे खिंचवा लिया? मोदी जी ने तब ही उसको कुत्ते के समान क्यों नहीं हकाला. और फिर मूल बात कि कांग्रेस शासन और बीजेपी मे क्या फर्क है, मोदीजी को जिता कर क्या फायदा हुआ?

और ये बातें कर रहे हैं, काफी पढ़े लिखे लोग, इनमें अधिकांश विदेश यात्रा कर चुके हैं और भली भांति जानते हैं कि अगर किसी आदमी के पास पासपोर्ट हो, और उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस ना हो (लुक आउट नोटिस यानि किसी आदमी को देश छोड़ कर जाने के खिलाफ कोर्ट का आदेश) तो उसको देश से बाहर जाने से कोई रोक नहीं सकता.

विजय माल्या जिस समय देश छोड़ कर भागे, उस समय वो सांसद थे, और उनके खिलाफ FIR तक नहीं थी.

नीरव मोदी को भी FIR लॉज होने के पहले ही अंदाज़ हो गया कि 7 साल से चल रहा खेल ख़त्म, बस मामा–भांजा फरार.

लेकिन नहीं, इन पढ़े लिखे लोगों के हिसाब से मोदीजी को सपना आना चाहिए था और उन्हें खुद एयरपोर्ट जा कर इन्हें पकड़ना था.

दावोस मे फोटो खिंचवाते समय भी intution होनी चाहिए थी कि नीरव चोर है और घोटाला कर रहा है.

आदमी सूंघ कर पकड़ना चाहिए था, नहीं तो किस बात के चौकीदार, और सभी सरकारी बैंक की हर ब्रांच के हर लोन की जानकारी तो होनी ही चाहिए थी.

ये है इन लोगों का स्तर. कल को इनके घर मे चोरी हो जाय तो ये मोदी को दोष दें कि, कैसे चौकीदार है.

मोदी जी ने जब देश के चौकीदार होने की बात की थी तो सरकारी खजाने की बात की थी. सरकारी खजाने को 2G, कोल और एयर इंडिया जैसे स्कैम से बचाने की बात की थी. सरकारी योजनाओं/ सब्सिडी मे जो लूट होती थी उसको रोकने की बात की थी.

उस वायदे को उन्होंने निभाया, पिछले 4 साल में कोई स्कैम नहीं हुआ. सब्सिडी का डायरेक्ट ट्रान्सफर शुरू हुआ, खाली गैस सब्सिडी मे 4 करोड़ फर्जी कनेक्शन पकडे गए.

पिछले घोटाला करने वाले भागे-भागे फिर रहे है, उनकी संपत्ति ज़ब्त की जा रही है. बैंक के जो लोन कांग्रेस शासन में दिए गए और डूब गए थे, वसूले जा रहे हैं.

लेकिन नहीं, इन्हें तो वैसा PM चाहिए तो इनके घर नहीं तो मोहल्ले पर भी चौकीदारी कर सके. उसके लिए तो राहुल ही ठीक है या फिर केजरीवाल. वही इन लोगों के आदर्श नेता हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY