खैर, आज का फेसबुकिया टॉपिक क्या है?

अब तो यह लिखने का भी मन नहीं करता कि यह कितना ‘महान’ देश है. पीएम बच्चों को परीक्षा देना सिखा रहे हैं , तो हमारे सीएम शराबबंदी के बाद दहेजबंदी का पागलपन लाए हैं, बीच में सूट सिलाकर जापान भी चले गए हैं.

सोनम कपूर को अचानक सच्ची ब्यूटी का मतलब समझ में आता है, तो भरे रैंप पर अपने पति अक्षय कुमार की जींस का जिप खोलनेवाली ट्विंकल खन्ना हमारी नयी लेखिका, आइकॉन है.

स्वरा भास्कर को पद्मावती में जौहर का मंडन दिखता है, लेकिन उनको जौहर और सती के बीच का फर्क तक नहीं पता. एलएसआर और जेएनयू की पैदाइश हैं, वो तब ये हाल है.

मलाइका अरोड़ा अपनी बहन के जन्मदिन पर लिंग के आकार का केक कटवाती हैं, उसको सार्वजनिक भी करती हैं…. लेकिन अगर भीड़ में कोई कुछ कह दे, तो तुरंत औरत भी बन जाती हैं. और दिल्ली सरकार का सचिव (या मुख्य सचिव) विधायकों से थप्पड़ खाता है (हालांकि, दोनों ही जोंक हैं, तो कोई किसी को पीटे अपने को क्या)…..

मंदिर के आगे बजबजाती नाली और कूड़े के ढेर के बीच चैती दुर्गा के लिए बैठक हो रही है, दिनरात कानफाड़ू आवाज़ में अल्लाहताला को मस्जिदों से आवाज़ दी जा रही है.

….इस देश में जहां मुश्किल से 40-50 करोड़ लोग होने चाहिए, वहां 135 करोड़ लोग कुत्ते-बिल्ली की तरह घिसट रहे हैं और सूअर की तरह लगातार पैदा करते जा रहे हैं. कोई नेता इस नासूर पर ऊंगली नहीं रखता, मोदीजीवा तो खैर इसे Asset ही बताते हैं…. मतलब, 75 में कुछ कहानियां क्या हुईं, साला कुत्ता-बिल्ली टाइप पैदा करना लोगों ने अधिकार मान लिया.

संन्यासी यहां व्यापार कर रहा है, व्यापारी मोटिवेटर है, भारतरत्न कोला बेचता है, कवि यहां खेती कर रहा है, खेतिहर आत्महत्या कर रहा है, परीक्षार्थियों के अंडकोष छूकर पुलिसजी तलाशी ले रहे हैं.

…मने, इस देश में जो जिसका काम है, वह ससुरा उसको छोड़ कर बाकी सब कुछ कर रहा है…..

….खैर, आज का फेसबुकिया टॉपिक क्या है…. नीरव, बैंक, चिटफंड, कविता, आंख मारना, ल़डकी, रो़डवेज….क्या है टॉपिक?

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY