भाजपा के लिए राष्ट्र प्रथम है, पार्टी politics बाद में

आपको याद होगा, पिछले साल जब पंजाब में विधानसभा चुनाव होने वाले थे और अकाली भाजपा गठबंधन की हार तय थी.

कनाडा में बैठे खालिस्तानियों के समर्थन से AAP की सरकार बनने का खतरा मंडरा रहा था…

तो मैंने अपनी फेसबुक वॉल से अपील की थी कि यदि आपके हल्के में अकाली भाजपा उम्मीदवार कमज़ोर है तो अपना वोट कॉंग्रेस को दीजिये क्योंकि पंजाब की कॉंग्रेस कभी भी कनाडा के खालिस्तानियों को पंजाब में पनपने नहीं देगी…

आखिरी 48 घंटे में बाज़ी कैसे पलटती है ये हमने पंजाब में देखा. ये देखा कि कैसे 60 से 80 तक सीटें जीतने का दम भरने वाली AAP 20 के आसपास सिमट गई.

इन दिनों कनाडा के खालिस्तानी प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो भारत दौरे पर आये हुए हैं. कल जब वो नई दिल्ली उतरे तो एक अपेक्षाकृत जूनियर कृषि राज्य मंत्री ने उनकी आगवानी की.

राजनयिक हलकों में इसे मोदी सरकार द्वारा कनाडा की सरकार को एक कड़ा संदेश माना जा रहा है. विदेशी राष्ट्राध्यक्षों को प्रोटोकॉल तोड़ गर्मजोशी से गले लगाने वाले मोदी ने ट्रूडो को झिड़क दिया है.

उनके साथ उनके दो खालिस्तानी मंत्री भी आये हुए हैं. उनमें से एक हैं अमरजीत सोही…

ये श्रीमान जी 80 के दशक में बिहार में खालिस्तानी आतंकवादी गतिविधियों के आरोप में TADA के तहत जेल काट चुके हैं.

इन्होने कनाडा की एक प्रांतीय विधानसभा में 84 के ऑपरेशन ब्लू स्टार को नरसंहार बता के भारत सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पास कराया है और कनाडा में खालिस्तानी राजनीति के मुखर प्रवक्ता है.

उनके साथ हैं हरजीत सिंह सज्जन… ये कनाडा के रक्षा मंत्री हैं… ये भी घोषित खालिस्तानी हैं… ये भी प्रतिनिधि मंडल के साथ आये हैं.

21 फरवरी को कनाडा का ये दल अमृतसर जा रहा है. जस्टिन ट्रूडो ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलने से मना कर दिया है.

इसके जवाब में आज जब जस्टिन ट्रूडो सपरिवार ताजमहल देखने आगरा गए तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने ट्रूडो से मिलने या आगवानी करने से मना कर दिया…

याद दिला दूं कि ये वही योगी हैं जो अभी सिर्फ हफ्ता भर पहले इज़रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की आगवानी में लाल कालीन बिछा के खड़े थे…

यहां मैं ये कहना चाहूंगा कि कांग्रेसियों को मोदी और योगी जी से राजनीति सीखनी चाहिए जिन्होंने अपने एक मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की अनदेखी का बदला अनदेखी से ही लिया है. भाजपा के लिए राष्ट्र प्रथम है, पार्टी politics बाद में.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY