नई वैज्ञानिक खोज : बनाई इस्पात के समान मजबूत ‘सुपर-लकड़ी’

नेचर नामक रिसर्च मेगजीन के 8 फरवरी 2018 के ताज़ा अंक में एक क्रांतिकारी रिसर्च की घोषणा की गई है, जिसके अनुसार स्टील के समान मजबूत और भार वहन करने की क्षमता लायक, तथा बन्दूक की गोली की चोट को भी इस्पात की तरह रोकने में सक्षम ‘सुपर लकड़ी’ कहलाने वाली विशेष लकड़ी का अविष्कार कर लिया गया है.

साधारण कच्ची लकड़ी को सोडियम हाइड्रो आक्साइड (कास्टिक सोड़ा ) NaOH, सोडियम सल्फाइट Na2SO3 के घोल में गलाकर गर्म करके लकड़ी की लुग्दी बनाली जाती है, जैसी कि कागज को बनाने में की जाती है.

फिर इस लुग्दी को गाढ़ा करके ऊंचे तापमान पर काम्प्रेस किया जाता है. ऐसा करने से लकड़ी में मौजूद कोशिकाओं की ‘सेल वाल’ टूट जावेगी और हाइड्रोजन के एटम ‘सेल्युलोज’ के एटमों से जाकर चिपक जावेंगे और मजबूत केमीकल बोन्ड बना लेंगे.

इस तरह बनी ‘सुपर-लकड़’ कठोर, ठोस, पानी से नहीं सड़ने वाली और मजबूत बन जाती है. यह सुपर लकड़ी साधारण टीक की लकड़ी से बारह गुना ज्यादा मजबूत और दस गुना ज्यादा टफ होती है.

यह स्टील की तुलना में छ:गुना ज्यादा वज़न में हल्की होती है, पर मजबूती में स्टील और टाईटेनियम के एलाय के समान मजबूत होती है. सुपर लकड़ी को कॉम्प्रेस करते समय किसी भी कोण पर मोड़ा जा सकता है.

मेरी लैण्ड विवि के वैज्ञानिक ‘लियोंगबिन्ग हू’ के अनुसार इस तरह बनाई गई सुपर लकड़ी कार्बन फायबर को पूरी तरह रिप्लेस कर देगी. यह स्टील, टायटेनियम अलाय और कार्बन फायबर से सस्ती रहेगी. रोहडे आयलैंड की ब्राऊन विवि के साइंटिस्ट ‘हुआजियान गाओ‘ के अनुसार इस सुपर लकड़ी से कारें, बस, ट्रक, हवाई जहाज आदि बनाये जावेंगे. फर्नीचर और मकान निर्माण तकनीकों में भी सुपर लकड़ी के मार्केट में आने के बाद पूरी तरह परिवर्तन हो जावेंगे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY