सेना के कैंप पर आतंकी हमला, जेसीओ शहीद, फैमिली क्वार्टर में छुपे आतंकी

नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर में शनिवार तड़के आतंकियों ने सेना के कैंप पर हमला बोल दिया. आतंकियों ने जम्मू-पठानकोट हाईवे पर सुंजवां आर्मी कैंप को निशाना बनाया है.

इस बार आतंकियों ने सेना के कैंप के उन हिस्सों को निशाना बनाया जहां, जवानों के परिजन रहते हैं.

सुबह 5 बजे के आसपास हुए इस हमले में अब एक जवान शहीद हो गया है. साथ ही जवान की बेटी भी हमले में घायल बताई जा रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 3-4 आतंकी कैंप की जाली काटकर रिहाइशी इलाके में अंदर घुसे. इसके बाद उन्होंने गोलीबारी शुरू की.

आतंकियों के इस हमले का क्विक रेस्पांस टीम ने भी जवाब दिया.आतंकी हमले के बाद सेना के जवानों ने मोर्चा संभाला और जवाबी फायरिंग शुरू कर दी. यह हमला सुंजवां मिलिट्री कैंप पर हुआ है. फिलहाल दोनों तरफ से फायरिंग जारी है. शहीद हुए जवान सेना में जेसीओ हैं.

जम्मू के आईजीपी एसडी सिंह जामवाल ने बताया, ‘सुबह करीब 4:55 बजे संत्री ने कुछ संदिग्ध लोगों को देखा. संत्री ने उनपर जवाबी कार्रवाई की. कितने आतंकी हैं इसकी पता नहीं चल पाया है. वे किसी फैमिली क्वार्टर में छुपे हो सकते हैं. हमले में दो लोग घायल हुए हैं, जिसमें एक हवलदार और दूसरा उनकी बेटी है. ऑपरेशन जारी है.’

पिछले कुछ समय से आतंकी लगातार सेना के कैंप को निशाना बनाने की कोशिश में जुटे हैं.

इससे पहले 31 दिसंबर 2017 को आतंकियों ने पुलवामा में सीआरपीएफ कैंप को निशाना बनाया था. जैश के 2 आतंकियों ने अवंतिपुरा के लीथपोरा में हमला किया था.

इस अटैक में 5 जवान शहीद हो गए थे, जबकि घंटों गोलीबारी के बाद सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया था.

पांच फरवरी को रात जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों ने पुलवामा के काकापुरा में सेना के 50वीं राष्ट्रीय राइफल्स कैंप पर हमला बोल दिया.

इस दौरान आतंकियों ने कैंप पर फायरिंग की और ग्रेनेड फेंके. हालांकि इस हमले में किसी को नुकसान नहीं हुआ है. हमले के बाद आतंकवादी भाग निकलने में कामयाब रहे.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY