महाशिवरात्रि विशेष : किसी के विश्वास पर सवाल उठाईए, गाली मत दीजिए

हम भारतवंशी बहुदेव उपासक तो अवश्य हैं किंतु बहुदेववादी नहीं. जहां भी शुचिता, स्वच्छता, आभा, प्रभा, पवित्रता, दिव्यता है वहीं हमारा देव है. पर शंकर देव नहीं देवाधिदेव महादेव हैं. भारत के मन, प्राण आत्मा में शिव का सनातन बसेरा है. और आश्चर्य कि भारत के ही कुछ विद्वान शिव के ईश्वरत्व को आयातित विचारधारा … Continue reading महाशिवरात्रि विशेष : किसी के विश्वास पर सवाल उठाईए, गाली मत दीजिए