पाकिस्तानी गोलीबारी में आर्मी कैप्‍टन समेत 4 जवान शहीद

जम्मू. पाकिस्तान सेना ने रविवार देर रात सीमा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया. पाकिस्तानी गोलीबारी में सेना के एक अधिकारी और तीन जवान शहीद हो गए जबकि दो नाबालिग समेत चार लोग घायल हो गए.

रविवार पूरी रात सीमा क्षेत्र पर गोलीबारी होने के बाद सोमवार सुबह भी भारतीय सेना, पाकिस्तान को जवाब दे रही है.

पिछले 15 सालों में जनवरी 2018 में पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है. पिछले दिनों आई रिपोर्ट के मुताबिक इस साल 21 जनवरी तक पाकिस्तान 134 बार सीजफायर का उल्लंघन किया था.

पाकिस्तानी गोलीबारी में 61 जवान शहीद

2017 में पाकिस्तान ने 860, 2016 में 271 और 2015 में 387 मर्तबा पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया था. इस दौरान पाकिस्तानी गोलीबारी में सेना के 61 से ज्यादा जवान शहीद हो चुके हैं जबकि 200 से ज्यादा आतंकियों को सेना ने ढेर किया है.

रविवार रात को पाकिस्तानी गोलीबारी के बाद रात भर सीमा पार से पुंछ के दिवार, बालाकोट में और राजौरी के बिंबर गली में गोलीबारी होती रही.

सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का इस्तेमाल किया गया है.

रविवार रात को सेना के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है जिसके बाद दोनों तरफ से गोलीबारी जारी है.

पाकिस्तानी गोलीबारी के चलते घाटी के स्कूल बंद

पाकिस्तानी गोलीबारी की वजह से एक बार फिर घाटी में स्कूलों को बंद करना पड़ा है. सीमा पर गोलाबारी के मद्देनजर जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा से पांच किलोमीटर के दायरे में स्थित सभी स्कूलों को 3 दिन तक बंद रखने का एलान किया गया है.

राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल ने बताया, ‘नियंत्रण रेखा पर सुंदरबनी से मंजाकोट के बीच 0-5 किलोमीटर के भीतर स्थित सभी 84 स्कूल अगले तीन दिनों के लिए बंद रहेंगे.’ अधिकारी ने बताया कि सीमा पर हालात बेहद ही तनावपूर्ण हो गए है. पाकिस्तान की ओर से 24 घंटे गोलीबारी की जा रही है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY