राजा की नर्मदा यात्रा में बरमान घाट पर आ सकते हैं राहुल गांधी

भक्तों को वर देने वाली, पुण्य सलिला मां नर्मदा प्रदेश की जीवनदात्री है. रेवा के पुण्य तट पर पैदल परिक्रमा कर रहे दिग्विजय सिंह की महायात्रा अंतिम चरण में है.

प्रदेश ही नहीं, देश की राजनीति के इस दिग्गज नेता ने इस पूरी यात्रा में खुद को राजनीति से दूर रखा, इतना ही नहीं सियासी चेहरों से भी उन्होंने दूरी बनाए रखी.

[नर्मदा परिक्रमा के बाद एक और यात्रा की तैयारी में दिग्विजय, पक्ष-विपक्ष में खलबली]

अब जबकि उनका यह अनुष्ठान पूर्णता की ओर है, प्रदेश के सत्ताधारी खौफ में हैं.

ग्रामीणों की समस्याओं पर चिंतन

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के महासचिव, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की यह महायात्रा 30 दिसंबर 2017 को शुरू हुई थी.

करीब 125 दिनों की इस महायात्रा में अब तक उन्होंने लाखों लोगों से मुलाकात की, विरोधी से लेकर उनके चित-परिचतों ने उनसे मुलाकात की.

[राजा की यात्रा से तैयार नया सियासी ताना-बाना]

इस दौरान उन्होंने एक ध्येय रखते हुए सिर्फ ग्रामीणों की समस्याओं पर ही चिंतन जारी रखते हुए सभी मुद्दों पर खामोशी रखी.

बरमान घाट में जुटेंगे देशभर से संत

मां नर्मदा के पावन तटों से होते हुए 3600 किलोमीटर की महायात्रा में अब तक दिग्विजय ने 1700 किमी की दूरी तय कर ली है.

आगामी मार्च माह में उनकी पुण्य यात्रा का बरमान घाट में समापन हो रहा है. अपनी पत्नी अमृता के साथ उन्होंने यह यात्रा संकल्पित होकर पूरी की है.

[एक राजा की खामोश नर्मदा परिक्रमा]

यात्रा के समापन पर संतों का समागम पावन तट पर होगा, साथ ही होंगे राजनीति के वे चेहरे जो सत्तापक्षा और विपक्ष में आरूढ़ हैं. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का भी आगमन हो सकता है.

समर्थक कर रहे भव्य आयोजन की तैयारी

इस परिक्रमा यात्रा के दौरान मैं निरंतर दिग्विजय सिंह के साथ साथ हूं. इस दौरान मैंने जो अनुभव किया वह अकल्पनीय और अनिर्वचनीय है.

दरअसल यात्रा से पहले जो कयास लगाए जा रहे थे, उससे परे राजा ने वो कर दिखाया जो बड़े-बड़े विद्वानों की समझ से भी परे है.

श्री सिंह ने इस यात्रा को पूरी तरह से भक्ति की राह में एकाग्र करते हुए व्यक्तिगत यात्रा साबित कर दी, अब ऐसे में उनके समर्थक बरमान घाट पर भव्य तैयारी में जुटे हैं. पावन घाट पर संतों का समागम होने जा रहा है, जिसकी तैयारियां शुरू हो चुकी हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY