समरसता महायज्ञ : गाँव भर में प्रकट हुआ ॐ

धार जिले में स्थित ग्राम कानवन में भाई जगदीश कानवन जगदीश और नंदकिशोर प्रजापति कानवन विजयसिंह कानवन जी के ढेरों मित्रों की टीम ने एक स्तुत्य और शानदार कार्य किया है.

कानवन ग्राम के 100 युवाओं की टोली ने भगवतगीता का आयोजन का बेड़ा उठाया ताकि धर्म में हो रही कुरूतियों को रोका जा सके साथ ही सभी ने संकल्प कर पूरे गांव में हर घर द्वार पर ॐ को स्थापित किया ताकि समाज में धर्म के प्रति बनने वाले भेदभाव को कम कर सके.

भागवतगीता के समापन दिवस पर समरसता महायज्ञ का आयोजन किया गया है. जिसमें बिना भेदभाव के सिर्फ एक ही ध्येय है कि हम सनातनी है इस उद्देश्य से यज्ञ का आयोजन किया जिसमें सभी ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया.

आज की आवश्यकता है कि हम जाति के बंधन में ना बंधे बल्कि धर्म के बंधन में बंध कर हमारे देश को विश्वगुरु के रूप में पुनः स्थापित कर सके.

हमारा मानना है कि इस प्रकार के आयोजन की आज आवश्यकता है ताकि हम एक ही डोर में बंध कर रह सके.

– वन्दे मातरम टीम कानवन

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY