पेश ए खिदमत है रेसिपी ए रोगन जोश ए मुगलई हांडी वाला

हांडी को रात भर के लिए पानी में भीगा के रख दें. सुबह उसके बाहर गीली मिट्टी का मोटा लेप लगायें.

बकरे का गोश्त 2 kg ( 6 व्यक्तियों के लिए ) ध्यान रखिये कि बकरा न ज्यादा mature हो न एकदम tender . 12 – 14 kg तक का बकरा ठीक होता है. खूब चर्बी वाला meat लें. साथ में 150 gm चर्बी अलग से लें. इस dish में गोश्त की quality सर्वाधिक महत्वपूर्ण होती है.

Marinating the meat ……

गाढ़ा दही – 150 gm

लहसुन अदरक पेस्ट – 2 टेबल स्पून

हल्दी – 1 टीस्पून

Meat को एक दिन पहले ले के अच्छी तरह धो साफ़ करके उसमें गाढे दही के साथ लहसुन अदरक पेस्ट हल्दी नमक मिक्स कर गोश्त को उसमें अच्छे से मिक्स कर 8-12 घंटे के लिए फ्रिज में रख दें.

चर्बी को marinate नहीं करना है. उसे अलग से फ्रिज में रख दें.

अगले दिन दोपहर 12 बजे

Cooking oil – 150 – 250 ml ( अपने हिसाब से )

साबुत जीरा – 1 टेबलस्पून

तेजपत्ता, लौंग इलायची दालचीनी इत्यादि खड़े मसाले

प्याज बारीक कटे – 500 gm

लहसून अदरक – 2 टेबलस्पून

धनिया पाउडर – 1 टेबलस्पून

जीरा पाउडर – 1 टेबलस्पून

शाही गरम मसाला – 10 gm

हल्दी नमक देगी कश्मीरी मिर्च – 1 – 1 टीस्पून

लाल मिर्च पाउडर – स्वादानुसार

टमाटर बारीक कटे – 500 ग्राम

नमक समेत सारे मिर्च मसाले एक bowl में पानी डाल के गाढा पेस्ट बना लें.

एक कड़ाही में तेल गर्म करें. जब धुंआ उठने लगे तो आंच कम कर थोडा ठंडा होने दें. साबुत जीरा और सारे खड़े मसाले डाल दें.

जब जीरा लाल होने लगे तो प्याज और लहसुन अदरक पेस्ट डाल के अच्छे से भून लें. प्याज हो जाए तो चर्बी डाल दें और अब उसमें मसाला पेस्ट डाल के भुनें.

जब तेल मसाले से अलग होने लगे तो टमाटर डाल के गलने तक भुनें. चर्बी धीरे धीरे तेल छोडती रहेगी. पक जाए तो गैस बंद कर दें.

कंडे/उपले की आग सुलगा लें और हांडी उस पर चढ़ा दें.

कड़ाही में पके मसाले में पूरा गोश्त अच्छी तरह मिक्स कर दें और उसे हांडी में डाल दें. थोडा सा पानी (कड़ाही धोने भर) हांडी में डाल दें.

अब कंडे की आंच को धीरे धीरे सुलगने दें. यदि आंच ज़्यादा होने लगे तो उपलों के साइड में पानी के छींटे मार के आंच को रेगुलेट करते रहे. बस इतना ध्यान रखें कि आंच ज़्यादा तेज़ न हो. हांडी को ढँक के रखें जिस से धुंए से बची रहे.

लगभग 2 या ढाई घंटे में meat गल जाएगा. अब उपलों की आंच हटा दें और उपलों की गर्म राख पर हांडी को छोड़ दें और 4-6 घंटे तक यूँ ही season होने दें. यदि बोरसी हो तो हांडी को गर्दन तक गर्म राख में दबा के ऊपर से ढक्कन लगा के छोड़ दें.

Dish 7 – 8 घंटे गर्म रहेगी. जब मन हो तब खाएं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY