पता नहीं हिन्दू कब समझेंगे कि जूते से ही निपट सकते हैं कुछ मामले

केरल में एक लव जिहाद का केस हुआ. अखिला नाम की लड़की को लव जिहाद में फंसाकर उसका जबरन निकाह कराया गया और उस लड़की को नया नाम हादिया दिया गया.

केरल में ये लव जिहाद का 3266वां केस था. वहीं राजस्थान में इस तरह के 1100 और यूपी में 866 केस लव जिहाद के सामने आये हैं.

इतनी बड़ी संख्या में लव जिहाद होना ये बताने के लिए काफी है कि केरल, राजस्थान और यूपी में क्या चल रहा है.

हिन्दू लड़कियों को लव जिहाद में फंसाने के लिए मुस्लिमों के कई गैंग सक्रिय हैं. विदेशी फंडिंग के दम पर हिंदुओं लड़कियों को सुनियोजित षड्यंत्र से कब मुस्लिम बना दिया जाता है स्वयं इसकी शिकार लड़कियों को भी जल्दी यकीन नहीं होता.

इस मामले का सबसे दिलचस्प पहलू ये है कि इसकी शिकार लड़कियां पहले पहल यही समझती हैं कि वो हिन्दू लड़के से मोहब्बत फरमा रही हैं, क्योंकि मुस्लिम लड़का हिन्दू नाम से उसे चारा डालता है. इसके लिये वो कलावा बाँधने और चंदन लगाने तक से भी परहेज़ नहीं करता.

मुस्लिम लड़का सबसे पहले हिन्दू लड़की के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाकर उसकी वीडियो फिल्म बनाने का कार्य करता है, फिर अपने दोस्तों के साथ भी उसकी वीडियो फिल्म बनाता है.

अब लड़की पूरी तरह से लड़के के चंगुल में आ चुकी होती है, उसकी विरोध की क्षमता खत्म हो जाती है. इसके बाद निकाह का ड्रामा शुरू किया जाता है.

लड़की को समझ ही नहीं आता कि वो इसका विरोध कैसे करे? विरोध का मतलब वो भली भांति जानती है, उसकी मार कुटाई और उसकी पोर्न फिल्म को सार्वजनिक करने की धमकी.

अधिकाँश मामलों में लड़की के माता पिता अपनी लड़की से हमेशा के लिए पल्ला झाड़ लेते हैं या गम खाकर मुस्लिम दामाद स्वीकार कर लेते हैं.

यदि कोई पिता हिन्दू संगठन या कोर्ट कचहरी का सहारा लेता है तो लड़के की तरफ से अनेकों हिमायती सामने आ जाते हैं.

महंगे से महंगा वकील सामने खड़ा कर देते हैं जिनको देखकर ही जज हिल जाते हैं. जबकि लड़की के पिता की इतनी हैसियत नहीं होती कि वो कोई ढंग का वकील कर सकें.

जब कोई मामला तूल पकड़ जाता है तो ऐसे केस में विरोधी दलों के सेक्यूलर और मानवाधिकार के पैरोकार का तमगा धारण किए वकील आरोपी पक्ष की ओर से निःशुल्क अपनी सेवायें देने के लिए उपस्थित हो जाते हैं.

लड़की भी मन मारकर कोर्ट में यही कहती है कि ये शादी उसकी मर्जी से ही हुई है क्योंकि मुस्लिम संगठनों की लॉबिंग इतनी तगड़ी होती है कि हिन्दू संगठन उनके सामने बौने लगते हैं.

लड़की को भी हिन्दू संगठनों की कमजोरी का एहसास हो चुका होता है. वहीं, उसकी पोर्न वीडियो फिल्म उसकी दूसरी कमजोरी होती है.

अब ये हादिया अपने शौहर की मर्ज़ी से उसके साथ सीरिया जा रही है जहाँ एक काफ़िर लड़की सेक्स स्लेव ही बनायी जा सकती है. कुछ समझ में आया ये खेल.

कुछ मामले जूते से ही निपट सकते हैं पता नही हिंदुओं को ये बात कब समझ में आयेगी.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY