हिन्दू आध्यात्मिक व सेवा मेले में उदयन : सुझाव दीजिए, सहयोग करिए

दुनिया में जब भी सेवा कार्य का नाम आता है तो समाचार माध्यम और मीडिया, धूर्त ईसाई मिशनरियों की ही बात करता है.

जबकि सच्चाई ये है कि इन धूर्त मिशनरियों ने सेवा के नाम पे दुनिया भर में सिर्फ और सिर्फ धर्मांतरण का ही खेल खेला है.

हिन्दू संस्थाओं को कोई जानता ही नहीं. हिन्दू संस्थाएं भी सेवा कार्य करती है ये कभी बताया ही नहीं जाता. बल्कि एक षड्यंत्र के तौर पे वैटिकन नियंत्रित / पोषित राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मीडिया हिन्दू संस्थाओं और हिन्दू समाजसेवियों को बदनाम करने का ही षड्यंत्र रचता रहता है.

ऐसे में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने ये महसूस किया कि हिन्दू स्वयं सेवी संस्थाओं के कार्य को भी सामने लाया जाना चाहिए. उनका भी प्रचार प्रसार होना चाहिए.

इस क्रम में आज से 8 साल पूर्व एस गुरुमूर्ति जी ने हिन्दू आध्यात्मिक एवं सेवा मेला की शुरुआत की.

ये आयोजन हर साल देश के विभिन्न नगरों में आयोजित किये जाते हैं और इनमें देश भर से उन संस्थाओं को आमंत्रित किया जाता है जो सेवा कार्य में लगी हैं.

आमतौर पे इसमें राम कृष्ण मिशन, माँ आनंदमयी ट्रस्ट जैसे विशाल भारी भरकम संस्थान ही आमंत्रित किये जाते हैं. वो संस्थान जो बीसियों पचासों या सैकड़ों सालों से चल रहे हैं…

वो कि जिनके पास लाखों करोड़ों नहीं बल्कि अरबों रुपये के फंड्स हैं, संसाधन हैं, स्वयंसेवियों / कार्यकर्ताओं की फौज है, समर्थकों / शिष्यों / अनुयायियों का हुजूम है… ऐसे में इन बड़ी बड़ी विशाल संस्थाओं के बीच, इस साल हमको मने हमारे उदयन को भी आमंत्रित किया गया है.

यूँ तो इस मेले का निमंत्रण मेरे पास आज से कोई 6 महीने पहले ही आ गया था, पर तब मैंने ये सोच के अपने ऊपर बोझ नहीं लिया कि… “अबे अबी से कायकू मरे जा रिये हो… जब मौका आएगा तो देखा जाएगा…”, पर भैया अब वो मौका आ गया है…

14 से 17 दिसंबर 2017, राम लीला मैदान, कवि नगर, गाज़ियाबाद में हिन्दू आध्यात्मिक एवं सेवा मेला आयोजित हो रहा है. आयोजकों की तरफ से आदेश है कि उदयन का भी एक स्टाल लगाना है मेले में…

10 × 10 का स्टाल लगाना है… और उसमें ये बताना है कि हम उदयन में क्या करते हैं, क्या क्या करते हैं, कैसे करते हैं… स्टाल में फ्लेक्स इत्यादि लगा के उसे सज्जित करना होगा, और चित्रों के माध्यम से अपने कार्य को प्रदर्शित करना होगा…

तो मित्रों, समस्या ये है कि राम कृष्ण मिशन और माँ आनंदमयी ट्रस्ट जैसे बड़े संस्थानों के बीच हम लोग उदयन जैसे छोटे नवजात शिशु सरीखे… हम वहां क्या करें, कैसे करें, कैसे अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं…

और हमारी तो टीम के नाम पे कुछ फेसबुकिया दोस्त हैं जो यहाँ वहाँ पूरे देश में बिखरे हुए हैं… मेला 14 को शुरू होगा, 13 को दोपहर 12 बजे तक मौके पे पहुंच कब्जा ले लेना है और स्टाल सजाना है.

क्या करें? कैसे करें??

सबसे पहले तो दिल्ली – NCR के सभी मित्रों को आमंत्रित कर रहा हूँ मेले में… आइये… पधारिये.

पूरे 4 दिन का आयोजन है. योगी आदित्यनाथ, सुब्रमण्यम स्वामी, एस गुरुमूर्ति, स्वामी अवधेशानंद जी जैसी बड़ी हस्तियां भी आएंगी…

विस्तृत कार्यक्रम इसके साथ संलग्न है… उसके बाद सुझाव दीजिये कि क्या करें, कैसे करें? फ्लेक्स छपवानी होगी… 4 दिन स्टाल सम्हालना भी होगा. आप सबके सहयोग से ही हो पायेगा. school

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY