यह कौन दहाड़ रहा है? क्या दूसरे ग्रह के लोग “ऊमुआमुआ” में से गरज रहे हैं?

इन दिनों पूरी दुनिया में कई जगह अचानक किसी के गरजने की या दहाड़ने की इतनी तेज आवाजें आ रही है जिसे सुनकर कान के पर्दे फटने जैसे होने लगते हैं, मकान थर्राने लगते हैं.

ज्यादातर लोग सोचते थे कि शायद कोई सुपरसोनिक लड़ाकू विमान ऊपर से निकल रहा होगा. इस कारण वायुमण्डल में “सुपर सोनिक बूमिंग” की आवाज आ रही है. जब इस बात की पुष्टि हो गई कि किसी तरह का कोई ‘कान्क्रार्ड’ जैसा लडाकू या दूसरा विमान नहीं निकला है तो लोग सोच में पड़ गये कि आखिर कौन इतनी जोर से दहाड़ रहा है या गरज रहा है कि दीवारें कांपने लगती हैं.

कुछ वैज्ञानिकों का कथन था कि इस प्रकार की बूमिंग की आवाज उल्काएं जब वायुमण्डल में घुसकर जल कर फटती हैं तो भी दहाड़ने की ध्वनि आ सकती है. उदाहरण के लिये कुछ साल पहले रूस में जो उल्का गिरी थी उसके धमाके से कई मकान क्षति ग्रस्त हो गए थे.

पर जब भी कोई उल्का धरती के वायुमण्डल में आकर जलती या फटती है तो उससे लगभग एक हजार कम्पन्न प्रति सेकण्ड की आवृत्ति की 25 डेसीबल की दिवाली के राकेट छोड़ने जैसी सुर्राहट की आवाज आती है. उसके साथ मेटियोर यानि उल्का के जलने से तेज उजेला भी होता है.

पूरी दुनिया में जो रहस्यमय आवाज आ रही है यह किसी के भंयकर दहाड़ने या गरजने जैसी बूमिंग साउंड होती है. इसका ध्वनि प्रदूषण लेबल 136 डेसीबल का नापा गया है. यानि इस बूमिंग से जो हवा में तरंगे चलती है उनमें लगभग हमारी हवा के दबाब से 120 गुना ज्यादा दबाव रहता है. और न किसी तरह की रोशनी या जलने फटने की आवाज होती है.

कुछ लोगों का अनुमान था कि भूकम्प के आने के समय जो धरती के पेट में मरोड़ उठती है उसके कारण यह बूमिंग की आवाज आती होगी. पर जब जांच की गई तो यह पाया गया कि जब जब जहाँ पर भी यह रहस्यमयी गरज या दहाड़ सुनाई पड़ी उस समय दुनिया में कहीं कोई भूकम्प नहीं आया था.

यह दहाड़ने की आवाज मध्यपूर्व एशिया से लेकर पूरी दुनिया, अमेरिका इग्लैण्ड सहित कई देशों के वैज्ञानिकों ने रिकार्ड की है. सबसे ताजा बूमिंग कल रात को अमेरिका में कई जगह सुनी गई. उसी समय ब्रिटेन के कई शहरों में मकान कांपने लगे. पर न तो धरती हिली न कहीं पर उल्का के जलने से रोशनी देखी गई.

वैज्ञानिकों का पुख्ता विचार है कि यह चमत्कारी कंपा देनेवाली आवाज निश्चित ही “सुपर सोनिक-बूमिंग” है. जब कोई चीज़ हवा में ध्वनि की गति से तेज आवाज मे चलती है तो उससे यह बूमिंग पैदा हो जाती है. 22 नवम्बर 2017 की रात को अमेरिका के अलबामा सहित अनेक स्थानों पर इसे सुना गया.

इंग्लैंड और दुनिया के कई देशों में इस बूमिंग की पुष्टि हुई है. कुछ वैज्ञानिक अटकलें लगा रहे हैं कि इन दिनों जो सुदूर आकाशगंगा से मेहमान “ऊमुआमुआ “ आया हुआ है उसमें बैठा कोई दूसरी दुनिया का “ऐलियन” हमको कोई सन्देश तो नहीं भेज रहा है. उसका विज्ञान हमारे विज्ञान से इतना आगे है कि हम उसे समझ नहीं पा रहे हैं.

Comments

comments

loading...