भानुमति – 11

नए राजा वृकोदर ने अपनी पहली ही राजाज्ञा द्वारा नरमांस-भक्षण निषेध कर दिया था. दोषी राक्षसों के लिए प्राणदण्ड का प्रावधान था. परंतु दण्ड कितना भी कठिन हो, अपराधी अपराध करना कहाँ छोड़ते हैं. जिह्वा के दास कुछ राक्षस प्रायः ही मुख्य बस्ती से दूर जाकर अपनी जठराग्नि शांत करते. जब हिडिम्ब राजा था तो … Continue reading भानुमति – 11