माँ की रसोई से : हरी मिर्च का चरपरा अचार

भारत का अचार का वैसा ही रिश्ता है जैसा अचार का उसके स्वाद से, अर्थात जितना पुराना उतना स्वादिष्ट और पौष्टिक.

आप भारत के किसी भी कोने में चले जाइए आपको उस जगह का विशेष अचार अवश्य खाने को मिलेगा.

आंवले और नीबू के पुराने अचार को तो औषधि के रूप में जाना जाता है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे आचार के बारे में बता रहे हैं जिसे हम बहुत अधिक दिनों तक नहीं रख सकते.

जी हाँ मिर्च का अचार. यूं तो ठण्ड में हर तरह की मिर्च उपलब्ध होती हैं, जिसका आप अचार बना सकते हैं. आज हम आपको हरी मिर्च का अचार बनाना बता रहे हैं.

छोटे बच्चों वाले घर में जहाँ खाने में मिर्च कम डाली जाती है, वहां बड़ों के लिए मिर्च का अचार बहुत काम आता है.

Ingredients

बड़ी हरी मिर्च – 250 ग्राम
राई या काली सरसों – 4 बड़े चम्मच
नमक – 3 चम्मच
जीरा – एक चम्मच
सौंफ – 1 चम्मच
मैथी – 1 चम्मच
हींग – 1/4 छोटी चम्मच
हल्दी पाउडर – एक छोटी चम्मच
अमचूर – 2 चम्मच
सरसों तेल – 4 बड़े चम्मच

Recipe

हरी मिर्च को सबसे पहले धोकर अच्छे से सुखा लीजिये.

फिर मिर्च के बीच में ऊपर से नीचे तक चीरा लगाइये लेकिन ध्यान रहे मिर्च पूरी तरह जुड़ी रहे.

सारे खड़े मसलों को हल्का सा भून लीजिये, बहुत अधिक नहीं भूनना है.

अब इसे मिक्सी में दरदरा पीस लीजिये और इस में हल्दी, मिर्च, नमक और अमचूर मिला लीजिये.

सरसों का तेल कड़ाही में डालकर गरम कर लीजिये. अब तेल को ठंडा होने दीजिये.

सबसे पहले हींग डाल दें, फिर भुने मसाले डाल दीजिये.

एक एक मिर्च उठाकर अन्दर मसाला भरें और अचार की बरणी में रखते जाइये. अब बचा हुआ तेल भी मिर्च के ऊपर डाल दीजिये.

यूं तो आप इसे कई दिनों तक खा सकते हैं. लेकिन यदि अधिक दिन चलाना है तो इसे आप एयर टाइट बरणी में भरकर फ्रीज़ में भी रख सकते हैं.

इसे अमचूर की जगह नीबू का रस डालकर भी बनाया जाता है. लेकिन ऐसे में मिर्च बहुत जल्द गल जाती है.

लीजिये तैयार है आपका हरी मिर्च का चरपरा अचार.

माँ की रसोई से : गुजराती दाल पास्ता

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY