राहुल तो ये बताएं कि कुख्यात दलाल दीपक तलवार पर क्यों मेहरबान थी कांग्रेस सरकार

कुख्यात दलाल दीपक तलवार द्वारा खाड़ी देशों की एयरलाइंस से 2008 से 2011 के मध्य ली गयी 1000 करोड़ रुपयों की घूस की कथा दिल्ली की अदालत में गूंज रही है.

ED (प्रवर्तन निदेशालय) और इनकम टैक्स विभाग ने अदालत में दायर चार्जशीट में गम्भीर सबूतों के साथ अदालत को बताया है कि दीपक तलवार को कतर और सऊदी अरब की एयरलाइंस ने विदेश में स्थित उसके किन-किन बैंक खातों में कब-कब और किस तरह लगभग एक हज़ार करोड़ की रकम जमा कराई.

इसके एवज में दीपक तलवार ने उन एयरलाइंस को भारत में किस तरह मनमानी छूट दिलवाई जिसके परिणामस्वरूप एयर इंडिया को दसियों हज़ार करोड़ का नुकसान हुआ और उसका भट्ठा बैठ गया.

दलाल दीपक तलवार का यह अकेला कारनामा नहीं था.

2G केस में दलाल नीरा राडिया के साथ यह भी नामजद किया गया था लेकिन आश्चर्यजनक रूप से CBI की चार्जशीट से दीपक तलवार का नाम हटा लिया गया था.

इस एयरलाइंस घूसकांड पर भी कांग्रेसी सरकार कुण्डली मारे बैठी रही थी.

 

 

2014 में मोदी सरकार बनने के बाद दीपक तलवार का यह कारनामा सामने आया है.

अतः मेरे केवल तीन सवाल

पहला सवाल : क्या विदेशी एयरलाइंस ने केवल दीपक तलवार को एक हज़ार करोड़ रुपये की घूस देकर देश की उड्डयन नीति बदलवा ली थी?

दूसरा सवाल : क्या एक दलाल इतना शक्तिशाली हो सकता है कि देश की सरकार और उसके कर्णधारों की सहमति, संरक्षण, सहयोग और समर्थन के बिना देश की एयर इंडिया को दसियों हज़ार करोड़ की चपत लगाकर विदेशी एयरलाइंस को उनकी मनमानी छूट दिलवा दे?

तीसरा सवाल : दीपक तलवार पर इतना मेहरबान क्यों थी राहुल गांधी की कांग्रेस की मनमोहन सरकार?

आजकल गुजरात में मोदी सरकार पर अपने अनर्गल आरोपों की बेलगाम बौछार करते घूम रहे राहुल गांधी को अपनी कांग्रेस की सरकार में हुए कारनामों से सम्बन्धित उपरोक्त सवालों के जवाब देने चाहिए. गुजरात की जनता को भी राहुल गांधी से इसके जवाब मांगना चाहिए.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY