ब्लैकमेलिंग के आरोप में गिरफ्तार पत्रकार के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ FIR

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री राजेश मूणत ने चर्चित सीडी कांड मामले के पीछे राजनीतिक साजिश का आरोप लगाते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. उल्लेखनीय है कि बघेल के रिश्तेदार और वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को ब्लैकमेलिंग और धमकी देने के आरोप में छत्तीसगढ़ पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.

[ब्लैकमेलिंग, रंगदारी वसूलने और जान से मारने की धमकी के केस में वरिष्ठ पत्रकार गिरफ्तार]

राजेश मूणत ने इस संबंध में आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया है. बता दें कि शुक्रवार को इस मामले में पत्रकार विनोद वर्मा को कथित उगाही और धमकी देने के आरोप में छत्तीसगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

गिरफ्तारी के बाद वर्मा को गाजियाबाद कोर्ट में पेश किया गया, जहां कोर्ट ने उन्हें तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया. शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेस में मंत्री राजेश मूणत ने कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को आरोप साबित करने की चुनौती देते हुए कहा था कि वो तथ्यों को पेश करे.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बघेल ने इस मामले में सबसे पहले मूणत पर हमला किया था. दूसरी तरफ मूणत ने गिरफ्तार पत्रकार विनोद वर्मा को कांग्रेस एजेंट करार दिया था.

गिरफ्तार पत्रकार विनोद वर्मा को छत्तीसगढ़ पुलिस रायपुर ले कर जा रही है. शुक्रवार को छत्तीसगढ़ पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विनोद वर्मा के घर से पेन ड्राइव, लैपटॉप और करीब 500 आपत्तिजनक सीडी बरामद किए जाने का दावा किया था.

विनोद वर्मा ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई देते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ पुलिस मंत्री राजेश मूणत जिनका वीडियो सीडी में है, उनको बचाने के लिए साजिश के तहत उन पर आरोप लगा रही है.

छत्तीसगढ़ पुलिस ने विनोद वर्मा को शुक्रवार को उनके गाजियाबाद के इंदिरापुरम इलाके में स्थित घर से गिरफ्तार किया. रायपुर पुलिस की एक टीम ने वर्मा को ब्लैकमेलिंग और उगाही के केस में गिरफ्तार किया है. उनके खिलाफ किसी अश्लील सीडी का हवाला देते हुए ब्लैकमेल करने की शिकायत दर्ज कराई गई थी.

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल के रिश्तेदार पत्रकार विनोद वर्मा का कहना है कि उनके पास छत्तीसगढ़ के मंत्री राजेश मूणत की सेक्स सीडी है, इसलिए सरकार उन्हें फंसा रही है. वर्मा पर आरोप है कि वे सेक्स सीडी के जरिए नेता को ब्लैकमेल कर रहे थे और उनसे अवैध उगाही की कोशिश में थे.

छत्तीसगढ़ पुलिस, गाजियाबाद कोर्ट द्वारा ट्रांजिट रिमांड देने के बाद अब वर्मा को छत्तीसगढ़ कोर्ट में पेश करेगी. विनोद वर्मा वरिष्ठ पत्रकार हैं और बीबीसी और देशबंधु के लिए काम कर चुके हैं. फिलहाल वह छत्तीसगढ़ कांग्रेस से जुड़े हुए हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY