केंद्र की कानूनी टीम का पुनर्गठन! सॉलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली. भारत सरकार के सॉलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने आज अपने पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने इस्तीफा देने के पीछे निजी कारणों का हवाला दिया. उन्होंने कहा कि वे कुछ समय अपने परिवार के साथ बिताना चाहते हैं इसलिए इस्तीफा दे रहे हैं. उन्हें 7 जून 2014 से तीन वर्ष के लिए सॉलिसिटर जनरल बनाया गया था. उसके बाद इस साल जून में उनका कार्यकाल अगले आदेश तक के लिए बढ़ा दिया गया था.

कुमार ने मोहन परासरन का स्थान लिया था जिन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के सत्ता में आने पर पद से इस्तीफा दे दिया था. उल्लेखनीय है कि कुछ महीने पहले अटॉर्नी जनरल के पद से मुकुल रोहतगी ने भी इस्तीफा दे दिया था. मुकुल ने भी इस्तीफा देने का कारण यही बताया था कि वे अब अपने परिवार को समय देना चाहते हैं.

वहीं माना जा रहा है कि सरकार अपनी कानूनी टीम को फिर से गठन करना चाहती है, इसी कारण उन्होंने इस्तीफा दिया है. अटॉर्नी जनरल और सॉलिसिटर जनरल भारत सरकार के मुख्य कानूनी सलाहकार होते हैं. ये सुप्रीम कोर्ट में तमाम अहम मुद्दों पर सरकार का पक्ष रखते हैं.

रंजीत कुमार इससे पहले सर्वोच्‍च अदालत में वरिष्ठ वकील रह चुके हैं. उन्होंने मोहन परासरन का स्थान लिया था. रंजीत कुमार सोहराबुद्दीन मुठभेड़ कांड सहित कई मामलों में सुप्रीम कोर्ट के न्याय मित्र और गुजरात सरकार के वकील रह चुके हैं.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY