कांग्रेस ने 60 सालों में पैदा की, वो समस्याएँ 5 साल में न सुलझा पाए, इसलिए नहीं देंगे मोदी को वोट!

समस्या ये है कि अगर आप लोगों से अपनी समस्याओं के बारे में चर्चा नहीं करते तो लोगों को लगता है कि आप बड़े सुकून में अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं और आपकी चांदी कट रही है. इस समय देश में लोग बड़ी संख्या में सरकार से नाराज़ हैं.

मै जहाँ जाता हूँ वहां लोग सरकार की आर्थिक नीतियों को कोस रहे हैं… लोगों में नोटबंदी, GST और कर्ज माफ़ी को लेकर सरकार से नाराज़गी है… रोज़ ही मेरी किसी ना किसी से बहस हो जाती है… वैसे मेरी आदत किसी के फटे में टांग अड़ाने की नहीं है, लेकिन जब कोई बिना सिर पैर के सीधे मोदी और योगी जी को गरियाने लगता है तो मेरा पारा सातवें आसमान पर पहुच जाता है.

मुझे तो लगता है की सबसे ज्यादा परेशान मै हूँ… क्योंकि मैं जिस सेगमेंट में कार्य करता हूँ सबसे ज्यादा मंदी के दौर से वही सेगमेंट गुजर रहा है… मै ट्रेक्टर फाइनेंस में हूँ… भारत सरकार ने ट्रेक्टर पर 12% और उसके equipment पर 22% टैक्स लगाया है… जबकि पहले ट्रेक्टर और हल यानी कल्टीवेटर एक ही कोटेशन पर फाइनेंस हो जाते थे. लेकिन अब ऐसा नहीं है दोनों के बिल अलग अलग कटते हैं क्योंकि दोनों के टैक्स में अंतर है… इसलिए इस महीने त्यौहार के सीज़न में भी मंदी जैसा माहौल है.

मेरे ऊपर इतना प्रेशर है कि मैं आपको बता नहीं सकता… अब आप बताइये इसके लिए मै किसे गाली दूँ? मेरे पिताजी की वॉल पुट्टी की डीलरशिप है… कुछ महीने पहले तक सब ठीक था लेकिन GST आने के बाद वॉल पुट्टी पर जो टैक्स 12% लगता था वो बढ़कर 28% हो गया… यानी दुगने से भी ज्यादा.

अब रेस्टोरेंट में भी बिल के साथ GST लगता है… हमारा बिजनेस बंद पड़ा है… मेरी जॉब में इतना तनाव पैदा हो गया है कि रात-रात भर नींद नहीं आती… क्या आप लोगों ने मुझे इतने दिन में एक बार भी इन चीज़ों का रोना रोते देखा? या फिर मैंने ये धमकी मोदी को दी कि मैं आपको 2019 में देख लूँगा? नहीं ना!

इतना सब होने के बावजूद अभी भी मैं मोदी जी पर भरोसा रखे हुए हूँ… मुझे उनके मेक इन इंडिया से या फिर स्टार्ट अप से कोई अपेक्षा नहीं है… ना ही मुझे किसी सरकारी योजना का लाभ लेना है…

मुझे बस इतना मालूम है कि मोदी जी को इन मुद्दों पर मुझसे ज्यादा चिंता होगी… वो मुझसे ज्यादा कट्टर हिन्दू है… उन्हें भी राम मंदिर की जल्दी होगी… हो सकता है वो सही समय का इंतज़ार कर रहे हों… केवल 4 सालों में आप वो कुछ पा लेना चाहते हैं जो आपने 60 सालों में धीरे धीरे गंवा दिया…

आप मोदी को 2019 में सिर्फ इसलिए वोट नहीं देंगे क्योंकि उन्होंने 5 सालों में वो सारी समस्याएँ नहीं सुलझाई जो कांग्रेस ने 60 सालों में पैदा की है? आप मोदी की जगह उन्हें चुनेंगे जो लोग कश्मीर को भारत का हिस्सा ही नहीं मानते… जो लोग आपके सेना अध्यक्ष को सड़कछाप गुंडा बोलते हैं… जो लोग कन्हैया जैसे देशद्रोही को युवाओं का रोल मॉडल बताते हैं और बुरहान वानी को शहीद बताते हैं…

आप उस राहुल गाँधी को अपना पीएम चुनेंगे जिसने कहा था कि मुझे भारतीय होने में शर्म आती है… जिसने गरीबी को एक मानसिक अवस्था बताया था… आप उस सोनिया गाँधी को चुनेंगे जो बटला हाउस में मारे जाने वाले आतंकियों की मौत पर आंसू बहाती है…

आप उस कांग्रेस को कैसे चुन सकते हैं जिसने भगवान राम के ऊपर प्रश्नचिह्न लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया था… 2019 में चुनाव होने वाले है… EVM का बटन दबाते समय ये सारे सवाल खुद से पूछ लेना और फिर फैसला करना कि आपको कमल चुनना है या….?

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY