वज़न कम करने का अंतिम उपाय – 4 : Million Dollar Mistake

One Dollar Mistake

यूं तो Million Dollar Mistake संगीत जगत में उस धुन को कहा जाता है जो गलत तरीके से बजने के कारण इतनी हिट हो जाती है कि संगीत की दुनिया में वो धुन हमेशा के लिए दर्ज हो जाती है. जैसे ‘चिंगारी कोई भड़के’ गीत का इंट्रो म्यूजिक जिस तरह से हम सबने सुना है वो गलत तरीके से गिटार बजने के कारण हिट हुआ है. उसकी वास्तविक धुन कुछ और ही थी.

ऐसे ही मोदीजी जैसे व्यक्ति की भाषण कला का जो प्रभाव इतने विशाल स्तर पर हुआ है उसका कारण है उनके पहले मनमोहन सिंह का प्रधानमंत्री होना जो बिलकुल नहीं बोलते थे. उनका मोदीजी से पहले प्रधानमंत्री होना देश के लिए Million Dollar Mistake थी.

खैर ये तो हुई मज़ाक की बात, वैसे Million Dollar Mistake टर्म का उपयोग अलग जगह अलग अलग सन्दर्भ में होता रहता है. लेकिन यहाँ इस टर्म का उपयोग मैंने इसलिए किया है क्योंकि आपकी एक गलती के कारण डॉक्टर्स आज की तारीख में Million Dollar कमा रहे हैं. वो कैसे आइये जानते हैं.

आप किसी नवजात बच्चे को ध्यान से देखिये और बताइये वो जब सांस लेता है तो उसके शरीर का कौन सा हिस्सा ऊपर नीचे होता है. जी हाँ, पेट. क्योंकि प्रकृति ने हमें इसी तरह सांस लेने की प्रक्रिया सिखाकर भेजा है. लेकिन हम लोग ख़ास कर औरतें कुछ तो फ़िल्मी हिरोइन को देखकर या कुछ अपनी सहूलियत के कारण अनजाने में इस ओर ध्यान ही नहीं देती कि कब हमने पेट की जगह छाती से साँस लेना शुरू कर दिया. भाई फ़िल्मी तारिकाओं को अदाएं दिखाते हुए दिल धड़काने के पैसे मिलते हैं. आप उनकी नक़ल ना करें.

ये जो इतनी कम उम्र में आजकल तोंद निकल आने की समस्या बढ़ रही है उसका भी यही कारण है. हमने पेट से सांस लेना बंद कर दिया, उसका एक काम कम हुआ तो उसकी मांसपेशियों का संकुचन और फैलाव कम हो गया. उसका व्यायाम कम हो गया तो वो बैठे बैठे सिर्फ खाना पचाने के अंगों को संभालने का बोरा बन गया है, जिसमें आप तब तक चीज़ें ठूंसते जाते हैं, जब तक आपकी कमरिया कमरा न बन जाए.

पेट बढ़ने के साथ शुरू होती है हर तरह की बीमारियाँ. आपको बता दूं आपकी हर बीमारी का सीधा सम्बन्ध आपके पेट से है. हमारा ऊर्जा केंद्र का स्थान नाभि यूं ही तो पेट के मध्य में नहीं रखा गया होगा. शरीर के जिस अंग पर सबसे अधिक ध्यान देने की आवश्यकता थी, उस बेचारे के साथ सबसे अधिक अन्याय होता है.

तो सांस गहरी लीजिये, पेट से लीजिये, आपकी आधी बीमारी तो यूंही ठीक हो जाएगी. और रोज़मर्रा की बची आधी बीमारियों को ठीक करने के लिए आप मुझसे प्रश्न पूछ सकते हैं. पत्र लिख सकते हैं. मैं उसके पूरी तरह से ठीक होने का दावा नहीं कर सकती लेकिन हाँ स्वस्थ रहने के अधिक से अधिक उपाय बताने का प्रयास करूंगी. प्रश्न आप नीचे दिए गए ईमेल पते पर भेज सकते हैं.

editor@makingindia.co
editor@makingindiaonline.in

अगले भाग में पढ़िए एक चमत्कारी औषधि के बारे में जो आपके चेहरे को फिर से लौटाएगा बचपन वाली प्राकृतिक चमक

पहले के भाग पढ़ने के लिए कृपया नीचे दी गयी लिंक्स पर क्लिक करें

वज़न कम करने का अंतिम उपाय – भाग 1

ma jivan shaifaly dhyan hi jivan meditation weight loss
Ma Jivan Shaifaly

ध्यान ही जीवन : एक भी रुपया खर्च किये बिना कम कीजिये वज़न – भाग -2

वज़न कम करने का अंतिम उपाय – 3 : आयुर्वेद आशीर्वाद

Ma Jivan Shaifaly Ayurved Ashirwad
Ma Jivan Shaifaly

आयुर्वेद आशीर्वाद : 11 वर्ष नियमित त्रिफला सेवन से सच हो जाती है वाणी!

माँ की रसोई से पंचफोरन : भारतीय मसाले का पंचामृत

माँ की रसोई से : थाइरोइड को संतुलित रखने के लिए खाइए ये मुखवास

आयुर्वेद आशीर्वाद : अलसी से पाइए सम्पूर्ण पोषण

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY