निराश्रित वृद्धा ने पीड़ितों की सेवा के लिए दिए एक लाख रूपए

जबलपुर. रेड क्रॉस सोसायटी द्वारा संचालित वृद्धाश्रम में जीवन गुजार रहीं निराश्रित वृद्धा अंजनी मालगे ने विशाल हृदयता का परिचय देते हुए पीड़ित लोगों की मदद के लिए रेड क्रॉस सोसायटी को एक लाख रूपए का चैक प्रदान किया है.

पैसठ वर्षीया वृद्धा ने बुधवार को खुद सोसायटी के अध्यक्ष कलेक्टर महेशचन्द्र चौधरी के पास पहुंचकर उन्हें चैक सौंपा और इस राशि से सोसायटी के माध्यम से पीड़ितों की मदद के अपने जज़्बे का इज़हार किया.

अकोला महाराष्ट्र में ब्याही गर्इं अंजनी जी को विषम परिस्थितियों के चलते वहां से वापस आना पड़ा और तब से ही वे जबलपुर में अपने भाई के साथ रह रही थीं. वे मदन महल स्थित एक निजी अस्पताल में बतौर नर्स काम करती थीं तथा पांच वर्ष पूर्व वे सेवानिवृत्त हो गर्इं थीं.

करीब डेढ़ साल पहले उनके उस भाई का देहान्त हो गया जिनके साथ वे रहा करती थीं. नियति के इस वज्रपात ने एक बार फिर उन्हें अकेला कर दिया और वे वृद्धाश्रम में आसरा लेने को विवश हुर्इं.

अपने जीवन में बड़े आघातों को झेलने के बावजूद इस वृद्धा के हृदय में मुश्किल में फंसे गैरों के लिए कोमल भाव अब भी बाकी हैं. इस बात की तस्दीक उस समय हुई जब अपने कक्ष में बैठे कलेक्टर श्री चौधरी के पास पहुंची और पीड़ित जरूरतमंदों की पीड़ा बांटने की भावना से रेड क्रॉस सोसायटी के नाम एक लाख रूपए का चैक कलेक्टर को सौंपा.

वृद्धा की मानवीय पीड़ा के प्रति संवेदना के भाव ने कलेक्टर सहित कक्ष में मौजूद सभी के दिल को छू लिया. कलेक्टर श्री चौधरी ने वृद्धा अंजनी जी के स्वस्थ जीवन और लम्बी उम्र की कामना करते हुए उनकी भावनाओं को सराहा तथा उन्हें प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया.

स्वयं जीवन का लम्बा समय मुश्किलों में गुजारने के बावजूद दूसरों की पीड़ा के प्रति संवेदनशीलता को बनाए रखना वाकई एक कठिन पर अनुकरणीय बात है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY