देशों की सीमाएं खुली रखने के हिमायती देखें, तीन साल में हुई स्वीडन की दुर्दशा

आज कल बहुत वामी मिलते हैं जो borderless nations याने सीमा रहित देशों की बात करते हैं. उनके मुताबिक देशों की कोई सीमा नहीं होनी चाहिए और अन्य देशों के लोगों को आना बेरोकटोक होना चाहिए. बक़ौल उनके तर्कों के, ऐसा हो तो आप भी उन देशों में जा सकते हैं. सवाल इतना ही है कि क्या आप पाकिस्तान या बंगला देश जाना चाहेंगे?

हाँ, ये लोग देशों की सीमाएं खुली होने की बात करते हैं, इनके घर के दरवाजे लॉक्ड रहते हैं, वो बात अलग है.

अनिर्बंध मायग्रेशन के कारण पश्चिमी यूरोप के सम्पन्न देशों के साथ क्या हो रहा है आप पढ़ते ही होंगे. यह वीडियो स्वीडन का है. तीन सालों में आए हुए मायग्रंट्स के कारण स्वीडन में क्या हुआ है, उसका लेखा जोखा दिया है. किस तरह से आए हुए मुफ़्तमांग लोगों को मुफ्त की सुविधाएं दी जा रही है, उसका हिसाब भी दिया है.

इसके कारण स्वीडन के मूल नागरिकों को किस तरह से असुविधाएँ झेलनी पड़ रही है, उसका भी वर्णन है. किस तरह वेलफेयर भत्ते के हकदार बूढ़े स्वीडिश नागरिक गरीबी में रह रहे हैं और ये आए हुए दो लाख पैंसठ हजार मुफ़्तमांग गले का फंदा बने हैं, यह भी दिखाया है.

सब से अधिक घृणित बर्ताव है स्वीडन के राजनेताओं का. जिस तरह मीडिया को साध कर बलात्कारों की खबरें दबा दी, जिस तरह आए हुए मायग्रंट्स द्वारा किए जाते गुनाहों की खबरें दबा दी, उनके विरोध में बोलने वालों को वंशवादी (Racist) कहकर बदनाम किया, नॉर्वे में इन मायग्रंट्स के विरोध में निकाले गए एक प्रदर्शन में देखे गए एक सरकारी शिक्षक को नौकरी से निकाल दिया, और जिस तरह से स्वीडिश होना ही मानों गुनाह बनाया जा रहा है – दिमाग सुन्न हो जाता है, इन्हें हो क्या गया है?

यहाँ वामियों की भाषा भी वही है और इस्लाम तो हमेशा राष्ट्रवाद का विरोधी ही रहा है. लेकिन इस पर एक मजेदार वीडियो देखा था पाकिस्तान का उसे बाद में शेयर करूंगा. मजेदार है. पाकिस्तानी ही राष्ट्रवाद को लेकर एक दूसरे से उलझ रहे हैं. एक वहाबी कह रहा है कि यह झण्डा रसूल का झण्डा नहीं, राष्ट्रवाद हराम है आदि, और उसको बाकी लोग भगा दे रहे हैं और जीवे जीवे पाकिस्तान के नारे लगा रहे हैं.

अस्तु, मुद्दे से भटकते नहीं. भारत का स्वीडन न होने दें, वामियों को ठोस प्रत्युत्तर देना आवश्यक है. अपने वामी परिचितों से यह वीडियो शेयर करें, उनसे पूछें उनके विचार. फिर निर्णय लें.

https://www.youtube.com/watch?v=UAWkTrtuhMw

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY