राहुल से ऐसे ही ओछे बयान की अपेक्षा की जा सकती है : स्मृति

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने महिलाओं को लेकर दिए गए बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने जिस तरह से महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी की है, मैं उसका विरोध करती हूं. उनसे इस प्रकार के ओछे बयान की अपेक्षा की जा सकती है, क्योंकि चुनाव के चलते एक बार फिर गुजरात में हार का सामना करते हुए उनकी बौखलाहट झलकती है.

गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने राहुल गांधी के महिलाओं को लेकर दिए गए बयान पर कहा कि क्या यही कांग्रेस की दृष्टि यही है कि महिला ने क्या पहना है या नहीं. राहुल ने यह कहकर गुजरात की महिलाओं का अपमान किया है. उन्हें शब्द वापस लेने चाहिए. माफी मांगनी चाहिए.

आनंदीबेन ने कहा, “सोनिया गांधी और प्रियंका वाड्रा से पूछा जाए कि बेटे और भाई ने जो महिलाओं के बारे में बोला है, क्या वह सही है? कोई नहीं कहेगा कि वह ठीक है. यह आपका संस्कार है, कांग्रेस का संस्कार है. जहां महिलाएं जाती हैं. बैठती हैं, वहां आपकी दृष्टि रहती है. सभी महिलाएं हमारी माताएं और बहनें हैं. उन्हें इसी दृष्टि से देखा जाना चाहिए. महिलाओं के लिए अलग शाखाएं हैं, उसे (राहुल गांधी) पता ही नहीं है.”

आनंदीबेन ने कहा, “राहुल ने गुजरात की महिलाओं का अपमान किया है. आप अपने शब्द वापस लें और महिलाओं से माफी मांगें. अन्यथा पूरे गुजरात की महिलाएं इकट्ठी हो जाएंगी और गुजरात में आप अपनी रही-सही सीट भी खो देंगे. कांग्रेस माफी मांगे और राहुल अपने शब्द वापस लें.”

आनंदीबेन ने आगे कहा, “गुजरात की महिलाएं संस्कारी हैं, देश की सेवा का काम करती हैं. गरीबों की सेवा करती हैं और कई संस्थाएं चलाती हैं. इन्हीं संस्थाओं के माध्यम से गुजरात की महिलाएं अपना नेतृत्व खड़ा करती हैं.”

आरएसएस के दिल्ली प्रचार प्रमुख राजीव तुली ने भी राहुल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस जितना जल्दी हो सके राहुल गांधी से छुटकारा पा ले, नहीं तो उन्हें सारी उम्र विपक्ष में रहना पड़ेगा.

राजीव तुली ने कहा,” राहुल गांधी कल यह भी कह सकते हैं कि बीसीसीआई में महिला क्यों नहीं हैं, उन्हें क्या यह पता है कि भारत की महिला क्रिकेट टीम भी है. राहुल गांधी के सलाहकारों को उन्हें ठीक से सलाह देनी चाहिए नहीं तो जो कांग्रेस अभी 400 सीटों से 44 सीटों पर आ गई है, वह कहीं साढ़े चार पर ना पहुंच जाए.”

उन्होंने आगे कहा, “राहुल गांधी को आरआरएस के बारे में पूरी जानकारी नहीं है. राष्ट्र सेविका समिति आरआरएस की महिला विंग है. राष्ट्र सेविका समिति की शाखा में महिला सदस्य अपनी यूनीफॉर्म में आती हैं.”

उधर, भाजपा आईटी सेल प्रभारी ने भी इस लिखा कि महिलाएं क्या पहनें वह उनका अधिकार है पर यह महिलाओं के प्रति राहुल गांधी की गंदी सोच दिखाता है.

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY